Gopalganj के रुद्रपुर गांव में टूटा काल का कहर, हालात देखकर मुंह को आया कलेजा

कोरोना की वजह से पूरे देश में हालात काफी ज्यादा ख़राब है. इस महामारी की वजह से कई घर उजड़ चुके हैं. 

Gopalganj के रुद्रपुर गांव में टूटा काल का कहर, हालात देखकर मुंह को आया कलेजा
कोरोना की वजह से हुई युवक की मौत (प्रतीकात्मक फोटो)

Gopalganj: कोरोना की वजह से पूरे देश में हालात काफी ज्यादा ख़राब है. इस महामारी की वजह से कई घर उजड़ चुके हैं. एक ऐसा ही मामला कटेया थाना क्षेत्र के रुद्रपुर गांव में आया है. जहां एक शिक्षक की शादी के लगभग 18 दिने बाद उसकी मौत हो गई. शिक्षक की मौत के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. 

दरअसल, विदथाना क्षेत्र के रुद्रपुर गांव निवासी स्वर्गीय रामचंद्र पांडेय के छोटे लड़के दुर्गेश पांडेय प्रखंड के ज्ञानेश्वरी उच्च विद्यालय गौरा बाजार में अतिथि शिक्षक के रूप में कार्यरत थे. उनकी शादी विगत 28 अप्रैल को पश्चिम चंपारण जिले के बगहा बनकटवा के स्वर्गीय चंद्रभूषण मिश्र की लड़की प्रियंका मिश्रा के साथ हुई थी.  शादी के बाद 29 अप्रैल को बारात वापस आ गई थी, लेकिन इसके बाद से ही दुर्गेश पांडेय को बुखार आने लगा था. 

बुखार आने पर परिजन उनका इलाज स्थानीय स्तर पर पर ही करा रहे थे. लेकिन उनकी बिगड़ती स्थिति को देखते हुए 5 मई को परिजनों ने उन्हें गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया. जहां इलाज के दौरान 15 मई को उनकी मौत हो गई. उनकी मौत की खबर सुनते ही परिजनों के साथ साथ पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया, स्थानीय मुखिया मुन्ना पांडेय और परिजन आनन-फानन में गोरखपुर पहुंचे, जहां कोरोना प्रोटोकाल के तहत शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया.

ये भी पढ़ें- वैशाली जिले में तेजस्वी यादव और MP पशुपति पारस की खोज शुरू, ढूंढने पर मिलेगा 51 हजार का इनाम

उनकी मौत की खबर से प्रखंड के सभी शिक्षक में शोक व्याप्त है. मृतक के बड़े भाई योगेश कुमार पांडेय और उनकी पत्नी प्रियंका का रो रोकर बुरा हाल है. मृतक के पत्नी के चित्कार को सुनकर परिजनों के साथ साथ गांव वालों का कलेजा दहल जा रहा है. मृतक की पत्नी प्रियंका मिश्रा को देखकर हर कोई भगवान को कोस रहा है. वहीं मृतक की पत्नी बार-बार बेहोश हो जा रही हैं. 

(इनपुट: मधेश तिवारी)