बिहार: म्यांमार के राष्ट्रपति पहुंचे बोधगया, भगवान बुद्ध को किया नमन

स्कूल के छात्राओं ने हवाईअड्डा परिसर के बाहर कतारबद्ध होकर भारत व म्यांमार का राष्ट्रीय झंडा हिलाकर राष्ट्रपति का हार्दिक अभिनंदन किया. इसके बाद राष्ट्रपति महाबोधि मंदिर पहुंचे, जहां उन्होंने विधिवत पूजा-अर्चना की.

बिहार: म्यांमार के राष्ट्रपति पहुंचे बोधगया, भगवान बुद्ध को किया नमन
म्यांमार के राष्ट्रपति ने महाबोधि मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की. (तस्वीर साभार-आईएएनएस)

गया: म्यांमार के राष्ट्रपति विन मिंत शुक्रवार को ज्ञान एवं मोक्ष की पावन धरती बिहार के बोधगया पहुंचे. इस मौके पर उन्होंने महाबोधि मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की और भगवान बुद्ध को नमन किया. राष्ट्रपति के साथ उनकी धर्मपत्नी व 28 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल भी बोध गया पहुंचा है. राष्ट्रपति के पहुंचने पर उनका भव्य स्वागत किया गया. इस अवसर पर स्कूल के छात्राओं द्वारा पारंपरिक सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से राष्ट्रपति का अभिनंदन किया गया. स्वागत स्थल पर भारत व म्यांमार के झंडे लगाए गए थे.

स्कूल के छात्राओं ने हवाईअड्डा परिसर के बाहर कतारबद्ध होकर भारत व म्यांमार का राष्ट्रीय झंडा हिलाकर राष्ट्रपति का हार्दिक अभिनंदन किया. इसके बाद राष्ट्रपति महाबोधि मंदिर पहुंचे, जहां उन्होंने विधिवत पूजा-अर्चना की. इस अवसर पर उन्होंने तीन फीट की भूमि स्पर्श मुद्रा की बुद्ध प्रतिमा भेंट की. इसके उपरांत वे बोधिवृक्ष का नमन किया तथा संक्रमण, राजयतन, मुचलिन्द सरोवर एवं मेडिटेशन पार्क, मंदिर का फोटो गैलरी का भ्रमण किया.

मेडिटेशन पार्क में उन्होंने घंटा भी बजाया. महाबोधि मंदिर के स्वागत कक्ष में सरकार की ओर से गया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने उनका स्वागत किया व कहा कि म्यांमार से बड़ी संख्या में बौद्ध श्रद्धालु एवं पर्यटक गया आते हैं. जिलाधिकारी ने बोधगया के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बोध गया के विकास में व्यक्तिगत रुचि रखते हैं.

इस अवसर पर भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने म्यांमार के राष्ट्रपति को महाबोधि मंदिर का स्मृति चिह्न प्रदान किया. गया के सांसद विजय कुमार ने उनकी धर्मपत्नी और म्यांमार की प्रथम महिला को बुद्ध की प्रतिमा का स्मृति चिह्न् प्रदान किया.

(इनपुट-आईएएनएस)