close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पीएम मोदी ने की रांची के केरम गांव के जल संरक्षण की तारीफ, मन की बात में किया जिक्र

पीएम मोदी ने की रांची के केरम गांव के जल संरक्षण की तारीफ, मन की बात में किया जिक्र

पीएम मोदी ने की रांची के केरम गांव के जल संरक्षण की तारीफ, मन की बात में किया जिक्र
पीएम मोदी ने रांची के केरम गांव के जल संरक्षण की तारीफ की. (फाइल फोटो)

रांची: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात कार्यक्रम के दौरान रांची जिला प्रशासन द्वारा जल प्रबंधन (जल संचयन) के क्षेत्र में किए जा रहे बेहतर कार्य को सराहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में कहा कि रांची से कुछ दूर, ओरमांझी प्रखंड के आरा केरम गांव में, वहां के ग्रामीणों ने जल प्रबंधन को लेकर जो हौसला दिखाया है, वो हर किसी के लिए मिसाल बन गया है. ग्रामीणों ने, श्रमदान करके पहाड़ से बहते झरने को, एक निश्चित दिशा देने का काम किया. वो भी शुद्ध देसी तरीका. इससे न केवल मिट्टी का कटाव और फसल की बर्बादी रुकी है, बल्कि खेतों को भी पानी मिल रहा है. ग्रामीणों का ये श्रमदान, अब पूरे गांव के लिए जीवनदान से कम नहीं है.

आपको बता दें उपायुक्त रांची राय महिमापत रे के निर्देशानुसार रांची जिले के सभी 18 प्रखंडों के 305 पंचायत में जल शक्ति अभियान युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है. प्रतिदिन जल संचयन के लिए सोख्ता गड्ढा, ट्रेंच कम बंद निर्माण इत्यादि का कार्य किया जा रहा है. 

इस कार्य में ग्रामीणों को जिला प्रशासन के द्वारा जल संचयन के बारे में प्रथम चरण में ट्रेनिंग दी गई. जल संचयन के लिए उन्हें श्रमदान करने के लिए भी प्रेरित किया गया, जिसका नतीजा है कि आज ग्रामीण जल स्रोतों का बेहतर प्रबंधन कर रहे हैं और जल संचयन करने के लिए आगे आ रहे हैं.

उपायुक्त श्री राय महिमापत रे के द्वारा प्रतिदिन जल शक्ति अभियान के तहत जल संचयन के कार्यों की समीक्षा भी की जाती है. उपायुक्त महिमापत रे भी सोनाहातू प्रखण्ड के चोकाहातु, तथा अनगड़ा प्रखण्ड के नवागढ़ सहित कई स्थलों पर जाकर स्वयं श्रमदान कर ग्रामीणों को लगातार जल संचयन के लिए प्रेरित कर रहे हैं.