झारखंड चुनाव: बख्तरबंद गाड़ी में नॉमिनेशन करने पहुंचा नक्सली कुंदन पाहन, 128 मामले हैं दर्ज

कुंदन पाहन पर हत्या, डैकती सहित 128 आपराधिक मामले दर्ज हैं. 30 मामले में कुंदन पाहन को बरी कर दिया गया है. पूर्व मंत्री और विधायक रमेश सिंह मुंडा, सांसद सुनील महतो, डीएसपी प्रमोद कुमार सहित 6 पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप है.

झारखंड चुनाव: बख्तरबंद गाड़ी में नॉमिनेशन करने पहुंचा नक्सली कुंदन पाहन, 128 मामले हैं दर्ज
कुंदन पाहन ने किया तमाड़ विधानसभा सीट से नामांकन.

सौरभ शुक्ला, रांची: लोगों का हुजूम, बख्तरबंद गाड़ी और भारी सुरक्षा के बीच अनुमंडल पदाधिकारी कार्यालय बुंडू के बाहर लोगों की भीड़ जुटी थी. चुनावी मैदान में है इसलिए नेता का ड्रेस पजामा-कुर्ता और बंडी पहने हैं, लेकिन हाथ में हथकड़ी है. लोकतंत्र के महापर्व में तमाड़ विधानसभा सीट से कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन ने आज अपना नामांकन दाखिल किया.

जनता की हक की लड़ाई के लिए बंदूक उठाया था, जनता की लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए ही चुनावी मैदान में हूं. जनता ही फैसला करेगी. नामांकन के बाद कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन बख्तरबंद गाड़ी के अंदर से ही ये बातें कह रहा था. नामंकन के बाद कुंदन पाहन को वापस बख्तरबंद गाड़ी से हजरीबाग ओपन जेल ले जाया गया.

वहीं, झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के उम्मीदवार विकास सिंह मुंडा ने कहा कि जनता की समस्या को लेकर तमाड़ की जनता के पास जाएंगे. चुनावी मैदान में जनता से आशीर्वाद मांगने जाएंगे. जनता को फैसला लेना है. वहीं, नक्सली कुंदन पाहन के चुनाव लड़ने पर झामुमो उम्मीदवार विकास सिंह मुंडा ने कहा कि लोकतंत्र में जनता को निर्णय लेना है. जनता सभी के चरित्र को जानती है. जनता की अदालत में न्याय मिलेगा.

वहीं भारतीय जनता पार्टी (BJP) उम्मीदवार रीता मुंडा ने कहा कि मैं भगवान बिरसा मुंडा की धरती की बेटी हूं, BJP ने मुझे अपना उम्मीदवार बनाया है. हमारी पार्टी का तमाड़ में जनाधार है. 20 साल के बाद तमाड़ विधानसभा से बीजेपी ने उम्मीदवार दिया है. पूरी ताकत के साथ चुनावी मैदान में उतरेंगे. लोकतंत्र में सभी को चुनाव लड़ने का अधिकर है और फैसला जनता को करना है.

जाहिर है तमाड़ विधानसभा सीट का मुकाबला काफी रोमांचक है. एक ओर रमेश सिंह मुंडा की हत्याकांड का आरोपी कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन भी चुनावी मैदान में है तो वहीं, रमेश सिंह मुंडा की राजनीतिक सियासत को आगे बढ़ा रहे उनके बेटे विकास सिंह मुंडा जेएमएम से हैं. जबकि रमेश सिंह मुंडा के हत्या का सुपारी देने वाला राजा पीटर भी तमाड़ सीट से ताल ठोक रहा है.

कुंदन पाहन पर हत्या, डैकती सहित 128 आपराधिक मामले दर्ज हैं. 30 मामले में कुंदन पाहन को बरी कर दिया गया है. पूर्व मंत्री और विधायक रमेश सिंह मुंडा, सांसद सुनील महतो, डीएसपी प्रमोद कुमार सहित 6 पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप है. स्पेशल ब्रांच के इंस्पेक्टर फ्रांसिस इंदवार की हत्या का भी आरोप है. एक निजी बैंक से पांच करोड़ रुपए और एक किलो सोना लूटने का आरोप है. कुंदन पाहन 2000 में भाकपा माओवादी संगठन का सदस्य बना था. 14 मई 2017 को कुंदन पाहन ने आत्मसर्मपण कर दिया था.