झारखंड: नक्सलियों ने वाहनों को किया आग के हवाले, दी यह चेतावनी

पर्चे में लिखा था, 'बिना टीपीसी की इजाजत के यहां यह कार्य किया जा रहा था, इसलिए इस घटना को अंजाम दिया गया. यदि बिना इजाजत के कार्य किया गया तो, भविष्य में भी ऐसी घटनाएं होती रहेंगी.'

झारखंड: नक्सलियों ने वाहनों को किया आग के हवाले, दी यह चेतावनी
नक्सलियों ने कई वाहनों में आग लगा दी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची: झारखंड के दो जिलों में नक्सलियों ने मंगलवार सुबह कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया. पुलिस के अनुसार, छापामार नक्सलियों ने मंगलवार तड़के लातेहार जिले के महुआ मिलन रेलवे स्टेशन के पास चार वाहनों में आग लगा दी. इन वाहनों का उपयोग स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक बिछाने में किया जा रहा था.

नक्सलियों ने हवा में गोलियां चलाईं और घटनास्थल के पास पर्चे भी फेंके. पर्चे में लिखा था, 'बिना टीपीसी की इजाजत के यहां यह कार्य किया जा रहा था, इसलिए इस घटना को अंजाम दिया गया. यदि बिना इजाजत के कार्य किया गया तो, भविष्य में भी ऐसी घटनाएं होती रहेंगी.'

टीपीसी एक नक्सली संगठन है. यह राज्य के तीन जिलों में सक्रिय है. एक अन्य घटना में छापामार नक्सलियों ने पलामू जिले के मुनेरी गांव में पत्थरों से लदे एक ट्रक में आग लगा दी. इसके साथ ही उन्होंने वाहन चालक के साथ मारपीट भी की.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, नक्सलियों ने दोनों घटनाओं को उगाही के लिए अंजाम दिया. इस प्रकार की घटना इसलिए हुई, क्योंकि लोगों ने उगाही देने से मना कर दिया है. झारखंड में अकेले वर्ष 2019 में छापामार नक्सलियों ने 60 से अधिक वाहनों को आग के हवाले किया है.