close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: विधानसभा उपचुनाव में NDA को झटका, पांच में चार सीटों पर मिली हार

किशनंगज में पांच चरणों तक आगे रहने वाली बीजेपी की प्रत्याशी स्वीटी सिंह आखिरकार एआईएमआईएम के कमरूल होदा से लगातार पिछड़ती जा रही थी और उन्हें हार का मुंह देखना पड़ेगा. एआईएमआईएम कमरूल होदा किशनगंज से 10 हजार से अधिक मतों से जीत दर्ज की है.  

बिहार: विधानसभा उपचुनाव में NDA को झटका, पांच में चार सीटों पर मिली हार
5 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में एनडीए को झटका लगा है.

पटना: बिहार में लोकसभा की एक और 5 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में एनडीए को झटका लगा है. समस्तीपुर लोकसभा सीट से एनडी उम्मीदवार एलजेपी प्रत्याशी प्रिंस राज ने जीत दर्ज की है लेकिन विधानसभा की पांच सीटों में से चार में एनडीए के प्रत्याशी हार गए हैं.. समस्तीपुर लोकसभा सीट से एनडीए की ओर से एलजेपी के प्रिंस कुमार ने 60 हजार से अधिक मतों से आगे चलते हुए जीत दर्ज की है.

इसके अलावा विधानसभा सीटों पर किशनंगज में पांच चरणों तक आगे रहने वाली बीजेपी की प्रत्याशी स्वीटी सिंह आखिरकार एआईएमआईएम के कमरूल होदा से लगातार पिछड़ती जा रही थी और उन्हें हार का मुंह देखना पड़ेगा. एआईएमआईएम कमरूल होदा किशनगंज से 10 हजार से अधिक मतों से जीत दर्ज की है.

इधर, सिमरी बख्तियारपुर सीट पर आरजेडी के प्रत्याशी जफर आलम ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एनडीए के प्रत्याशी अरुण कुमार यादव को 15,508 मतों से भारी शिकस्त दी है. जबकि दरौंदा में निर्दलीय प्रत्याशी कर्णजीत सिंह ने जीत दर्ज की है.

नाथनगर में भी काफी समय आगे चलने के बाद आखिरकार नाथनगर में जेडीयू के प्रत्याशी लक्ष्मीकांत मंडल ने जीत दर्ज की है. लक्ष्मीकांत मंडल ने आरजेडी की राबिया खातून को 4963 मतों से शिकस्त दी है. बेलहर से भी आरजेडी के प्रत्याशी रामदेव यादव ने जेडीयू के प्रत्याशी लालधारी यादव से करीब आठ हजार मतों से बढ़त बना ली है.

गौरतलब है कि समस्तीपुर लोकसभा और विधानसभा की पांच सीटों- किशनगंज, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंदा, नाथनगर और बेलहर के मतदाताओं ने 21 अक्टूबर को मतदान किया था.

इस उपचुनाव को अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है. इस उपचुनाव में जेडीयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार और आरजेडी के तेजस्वी यादव की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. हालांकि उपचुनावों के आने के बाद ये साफ हो गई है कि पांच में दो सीटों पर आरजेडी ने जीत दर्ज की है.