बिहार: नेपाल ने दी गंडक बराज पर मरम्मत कार्य करने की अनुमति, आज से शुरू होगा काम

 नेपाल ने बांधों पर हो रहे मरम्मत कार्य को शुरू करने की अनुमति दे देी है. वाल्मीकिनगर गंडक बराज के एफएलएक्स बांध पर आज से काम शुरू किया जाएगा. बेतिया के डीएम और नेपाल के डीएम से पिछले कई दिनों से बात कर रहे थे.

बिहार: नेपाल ने दी गंडक बराज पर मरम्मत कार्य करने की अनुमति, आज से शुरू होगा काम
वाल्मीकिनगर गंडक बराज के एफएलएक्स बांध पर आज से काम शुरू किया जाएगा. (फाइल फोटो)

बेतिया: नेपाल ने बांधों पर हो रहे मरम्मत कार्य को शुरू करने की अनुमति दे दी है. बिहार के वाल्मीकिनगर गंडक बराज के एफएलएक्स बांध पर आज से काम शुरू किया जाएगा. बेतिया के डीएम और नेपाल के डीएम से पिछले कई दिनों से बात कर रहे थे. जिसके बाद आखिरकार, सोमवार को नेपाल सरकार ने मरम्मत की अनुमति दी. 

गंडक बराज के अधिकारी आज से बांध पर मरम्मती और देख रेख का कार्य करेंगे. लॉकडाउन के कारण नेपाल ने यह रोक लगाई थी. नेपाल के अंतर्गत एफएलक्स बांध पर पानी काफी दबाव था. इसकी वजह से अगर बांध को नुकसान होता तो नेपाल का भी भारी नुकसान हो जाता है. वहीं, नेपाल में बांध टूटने से होने वाली तबाही को लेकर भारत चिंतित था. 

आपको बता दें कि सोमवार को इस मामले पर बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा ने बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि नेपाल की ओर से काम करने पर रोक लगाई गई है. बाढ़ राहत के काम को नेपाल ने रोक दिया गया है. रोक की वजह से इंजीनियर काम करने नहीं जा पा रहे हैं. बाढ़ राहत का काम नहीं होने से उत्तर बिहार पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. 

संजय झा ने कहा कि गंडक बराज में 36 गेट हैं जिसमें 18 गेट नेपाल में हैं और भारत के हिस्से में पड़ने वाले फाटक तक बांधी की सफाई और मरम्मत का काम हो चुका है. वहीं, नेपाल के हिस्से में पड़ने वाले बांध के हिस्से का मरम्मत का काम नहीं हो सका है. नेपाल बांध मरम्मत के लिए सामग्री ले जाने से रोक रहा है.  हम अपने हिस्से में काम पूरा कर चुके हैं. अगर स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो बिहार के लिए यह बड़ा खतरा है.