हजारीबाग: NHAI की नई तकनीक, प्लास्टिक से कर रहा फोर लेन का निर्माण

ये तकनीक बहुत ही नई है और बहुत ही लाभदायक है. यहां तक की तकनीकी विशेषज्ञ भी ये मानते है कि प्लास्टिक से बनी सड़क के अंदर पानी नहीं जा सकेगा

हजारीबाग: NHAI की नई तकनीक, प्लास्टिक से कर रहा फोर लेन का निर्माण
प्लास्टिक का इस्तेमाल इचाक स्थित एनएच-33 फोर लेन निर्माण में किया जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हजारीबाग: पर्यावरण के सबसे बड़े दुश्मन प्लास्टिक को खत्म करने को लेकर लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी सिंगल यूज़ प्लास्टिक को खत्म करने को लेकर लोगों से लगातार अपील कर रहें है. ऐसे में झारखंड के हजारीबाग में पहली बार भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) प्लास्टिक का इस्तेमाल सड़क बनाने में कर रही है. इस प्लास्टिक का इस्तेमाल इचाक स्थित एनएच-33 फोर लेन निर्माण में किया जा रहा है.

आपको बता दें कि एनएचएआई हजारीबाग ने इसी साल 2 अक्टूबर तक चले स्वच्छता अभियान के दौरान खुद कचरा जमा किया था. फिर इन प्लास्टिक की सफाई की गई. इसे सूखा कर छोटे-छोटे टुकड़ों में तब्दील कर दिया गया. प्लास्टिक के टुकड़ों के साथ सड़क बनाने वाले सामान को मिलाया गया. सभी सामान को हॉट मिक्स प्लांट में डालकर योग्य बनाया गया है. खास बात ये है कि जहां प्लास्टिक का इस्तेमाल होता होगा, वहां अलकतरा का प्रयोग नहीं किया जाएगा. प्लास्टिक कचरे के तकनीकी इस्तेमाल करने का फैसला काफी रिसर्च के बाद लिया गया है.

ये तकनीक बहुत ही नई है और बहुत ही लाभदायक है. यहां तक की तकनीकी विशेषज्ञ भी ये मानते है कि प्लास्टिक से बनी सड़क के अंदर पानी नहीं जा सकेगा. इससे सड़क काफी दिनों तक टिकेगी. साथ ही इसके निर्माण के खर्च में भी काफी कमी आएगी. सड़क निर्माण में लगने वाला खर्च भी पूरी तरह से बचेगा. ये प्रयोग सफल रहा तो पूरे राज्य में एनएचएआई कचरा जमा करेगी. पर्यावरण से प्लास्टिक को अलग करने का सबसे बेहतर माध्यम ये बन जाएगा.

हम सभी को ये समझने की जरुरत है कि आज सिंगल यूज़ प्लास्टिक एक जहर बन चुका है. इससे जहां नालियां जाम हो रही हैं, तो वहीं दूसरी तरफ मिट्टी में मिलने पर मिट्टी की उर्वरा शक्ति खत्म हो रही है. इसे नष्ट करना लगभग नामुमकिन है. ऐसी स्थिति में अगर इस तरह की तकनीक इजाद हुई है और एनएचएआई के द्वारा ये पहल की गई है तो ये काबिले तारीफ है.

Anupama Kumari, News Desk