बिहार: धान की धीमी खरीद को लेकर नीतीश सरकार चिंतित, मंत्री बोले...

सहकारिता मंत्री राणा रणधीर ने कहा कि पिछले एक पखवाड़े से पैसे नहीं होने से धान की खरीद नहीं हो पाई हैं. मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप और उच्य स्तरीय अधिकारियो के साथ बैठक कर इस समस्या को दूर किया गया हैं.

बिहार: धान की धीमी खरीद को लेकर नीतीश सरकार चिंतित, मंत्री बोले...
राणा रणधीर बिहार सरकार में सहकारिता मंत्री हैं.

पटना: बिहार में धान की धीमी खरीद को लेकर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार चिंतित है. इसको लेकर धान खरीद का लक्ष्य तय किया गया था, लेकिन उस पर संशय की स्थिति बनी है. अभी तक पांच लाख टन धन की खरीद हो पाई है, जब की लक्ष्य 30 लाख टन धान खरीदने का है.

इस मामले पर सहकारिता मंत्री राणा रणधीर ने कहा कि पिछले एक पखवाड़े से पैसे नहीं होने से धान की खरीद नहीं हो पाई हैं. मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप और उच्य स्तरीय अधिकारियो के साथ बैठक कर इस समस्या को दूर किया गया हैं.

उन्होंने कहा कि 30 लाख टन धान खरीद का लक्ष्य विभाग की ओर से रखा गया है. 15 दिसंबर से 15 फरवरी तक मात्र पांच लाख टन धान की खरीदारी हो पाई है. ऐसे में 31 मार्च तक 25 लाख टन धान की खरीदारी कैसे हो पाएगी यह बड़ा सवाल है. कम समय में इतना बड़े लक्ष्य को प्राप्त करना संशय की स्थिति पैदा करता है.

वहीं, सहकारिता विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, फिलहाल सबसे अधिक सुपौल में 5623 किसानों ने 36 हजार 981 मीट्रिक टन, रोहतास में 4541 किसानों ने 46 हजार 482 मीट्रिक टन, पटना में 5087 किसानों ने 34 हजार 160 मीट्रिक टन, नालंदा में 4232 किसानों ने 21 हजार 280 मीट्रिक टन, मधेपुरा में 2110 किसानों ने 13761 मीट्रिक टन और गया में 3844 किसानों ने 2743 मीट्रिक टन की बिक्री की है.