बाढ़ को लेकर नीतीश कुमार ने की समीक्षा बैठक, अधिकारियों को दिए अहम निर्देश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ को लेकर बुधवार को समीक्षा बैठक की. समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने कई अहम निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि अभी अगस्त और सितंबर बाकी है. अगस्त और सितंबर में ही ज्यादातर बाढ़ आती है. 

बाढ़ को लेकर नीतीश कुमार ने की समीक्षा बैठक, अधिकारियों को दिए अहम निर्देश
समीक्षा बैठक के दौरान नीतीश कुमार कई अहम निर्देश दिए हैं. (फाइल फोटो)

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ को लेकर बुधवार को समीक्षा बैठक की. समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने कई अहम निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि अभी अगस्त और सितंबर बाकी है. अगस्त और सितंबर में ही ज्यादातर बाढ़ आते हैं. अगस्त के लिए पूरी तैयारी अभी से करनी होगी. 

उन्होंने बाढ़ को लेकर अधिकारियों को पूरी तरह से तैयारी करने को कहा है. साथ ही प्रभावित लोगों को ऊंचे स्थानों पर ले जाने की पूरी तैयारी करने का भी आदेश सीएम ने दिया है. उन्होंने कहा है कि इस बार यूनिक तरीके से बारिश हो रही है. एक तरफ कोरोना की समस्या है, दूसरी तरफ बाढ़ है.

सीएम ने कहा कि कोरोना के बारे में पता नहीं है, कब कौन और कहां संक्रमित हो जाए. रिलीफ कैंप में सबको मास्क दें, डॉक्टर्स का इंतजाम करके रखें. रिलीफ कैंप में जो लोग रहें, उनका कोरोना टेस्ट करवाएं और अब सब प्रखंडों में एंटीजन टेस्ट करवा सकते हैं. बाढ़ प्रभावित इलाकों में एंटीजन किट की संख्या बढ़ाने को भी कहा है.

सीएम ने कहा है कि 2008 में कोसी त्रासदी के दौरान सहरसा में 10 हजार लोगों के लिए मेगा रिलीफ कैंप बनाया गया था जिसकी हर तरफ प्रशंसा हुई थी. जरूरत के अनुसार राहत शिविर को बनाते रहना होगा ताकि लोगों की परेशानी कम हो सके.

सीएम नीतीश कुमार ने एक अणे मार्ग स्थित नेक संवाद में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 12 जिलों के अधिकारियों के साथ बाढ़ को लेकर बैठक की. इस बैठक में आपदा विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि बाढ़ से 12 जिलों के 101 प्रखंड की 36 लाख जनसंख्या बाढ़ से प्रभावित है.