close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: नीतीश कुमार का मुजफ्फरपुर में हुआ भारी विरोध, राज्य में इसे लेकर राजनीति शुरू

कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने कहा है की मुख्यमंत्री का विरोध होना स्वभाविक है इस घटना से प्रत्येक साल बच्चे मरते हैं लेकिन सरकार उचित व्यवस्था नहीं कर पाती अस्पताल में बेड दवाएं नहीं मिलती हैं और ना हीं मूलभूत सुविधाएं हैं. 

बिहार: नीतीश कुमार का मुजफ्फरपुर में हुआ भारी विरोध, राज्य में इसे लेकर राजनीति शुरू
नीतीश कुमार एसकेएमसीएच मरीजों एवं उनके परिवार से हालचाल लिया. (फाइल फोटो)
Play

पटना: मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार (अक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम) से अब तक 109 बच्चों की जान जा चुकी है ये आंकड़ा और भी बढ़ सकता है. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में मरीजों एवं उनके परिवार से हालचाल लिया हालांकि इसी बीच लोगों ने ‘नीतीश कुमार मुर्दाबाद’ और ‘नीतीश हाय-हाय’ के नारे भी लगाए जिसको लेकर बिहार में राजनीति भी शुरू हो गई है.

कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने कहा है की मुख्यमंत्री का विरोध होना स्वभाविक है इस घटना से प्रत्येक साल बच्चे मरते हैं लेकिन सरकार उचित व्यवस्था नहीं कर पाती अस्पताल में बेड दवाएं नहीं मिलती हैं और ना हीं मूलभूत सुविधाएं हैं. अस्पताल में जिंदगी मिलनी चाहिए तो बच्चा दम तोड़ रहा है. मुख्यमंत्री का विरोध स्वभाविक गुस्सा का प्रतिकण है. उन्हें व्यवस्था में परिवर्तन करना चाहिए इसे नियति मान कर स्वीकार कर लेना कि जून महीने में बच्चे मरेंगे यह घोर अनुचित है. 

 वही आरजेडी ने भी मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है पार्टी के प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने मुख्यमंत्री का मुजफ्फरपुर में विरोध को सही बताते हुये कहा है की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुंभकरण की नींद में सोए हुए थे और लगातार आरजेडी मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कर रही थी लेकिन सरकार सुन नहीं रही थी. बच्चों की रोज मौत हो रही है और इलाज के लिए समुचित व्यवस्था नहीं है. जनता ने मुख्यमंत्री के विरोध करके जाहिर कर दिया कि गलत का विरोध हमेशा होता रहेगा मुख्यमंत्री आज जगे हैं तो जनता के विरोध का सामना करना ही पड़ेगा 

मुजफ्फरपुर में  मुख्यमंत्री के विरोध को  लेकर विपक्ष के दवारा किये जा रहे राजनीती पर जेडीयू और बीजेपी  ने निशाना साधा है जेडयू के  प्रवक्ता राजीव रंजन ने  कहा कि विपक्ष के उस कार्य पर किया गया है विरोध है इसपर राज सरकार हरसंभव सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं पिछले वर्ष ईएस का मामला कम था इस वर्ष टेंपरेचर को लेकर मामला बड़ा है और मरीज आए हैं राज्य के कई जिलों में व्यवस्थाएं की गई हैं. हमारी पूरी कोशिश है कि अब मौतें नही हो. राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को कहा है कि एम्स में एक वायरल लैब हो ताकि रिसर्च किया जाए. 

बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद की माने तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे सभी संवेदनशील है ऐसी घटना को लेकर सभी बड़े तकलीफ में हैं. स्वास्थ्य विभाग की तरफ से लगातार प्रयास किया जा रहा है लेकिन जो विपक्ष राजनीति कर रही है वह ठीक नही है 

उल्लेखनीय है कि चमकी बुखार से पीड़ित करीब 400 बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं  जबकि 108 बच्चों की अब तक मौत हो चुकी है जरूरत है की कोई ठोस कदम उठाने की और इसपर राजनीति नही करने की