नीतीश से मुलाकात पर बोले तेजस्वी- वह डेड फोर्स बन गए हैं, हमारे लिए किसी काम के नहीं

अब इसी बीच नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद लगाए जा रहे कयासों पर ब्रेक लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि जो लोग थक चुके हैं, डेथ फोर्स बन गए हैं, बीजेपी-आरएसएस से लड़ नहीं सकते, वह मेरे किसी काम के नहीं हैं.

नीतीश से मुलाकात पर बोले तेजस्वी- वह डेड फोर्स बन गए हैं, हमारे लिए किसी काम के नहीं
नीतीश से मुलाकात के बाद कयासों पर बोले तेजस्वी- वह डेथ फोर्स, हमारे लिए किसी काम के नहीं. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में चुनावी सरगर्मी के बीच आरजेडी नेता व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव काफी सक्रिय नजर आ रहे हैं. मंगलवार को विधानसभा में तेजस्वी-नीतीश की मुलाकात हुई थी, इसके बाद से ही सियासत शुरू हो गई. अब इसी बीच नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद लगाए जा रहे कयासों पर ब्रेक लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि जो लोग थक चुके हैं, डेथ फोर्स बन गए हैं, बीजेपी-आरएसएस से लड़ नहीं सकते, वह मेरे किसी काम के नहीं हैं.

नीतीश कुमार से मुलाकात पर सफाई देते हुए तेजस्वी ने कड़े शब्दों में कहा कि नीतीश कुमार डेड हो गए हैं. उनपर से अब भरोसा उठ गया है. मैं उनसे एनआरसी-एनपीआर प्रस्ताव पर बात करने गया था कि जो प्रस्ताव लाया जाएगा, उसे दिखाना होगा. तब जा कर हमने सर्वसम्मति से उसे पारित कराया. 

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार कोई हमसे पूछ कर बीजेपी में थोड़ी गए थे कि उनसे जा कर बात करें और कुछ कहें. हमने तो उन्हें पीएम बनाने की बात भी कही थी. सदन में नीतीश कुमार का भाषण बस झूठ का पुलिंदा है.

तेजस्वी ने कहा कि बिहार में हमने वादा किया था कि सीएए और एनआरसी लागू नहीं करने देंगे, इसलिए उनसे मुलाकात करने गए थे. दिलचस्प बात यह है कि प्रस्ताव पारित होने के बाद तेजस्वी ने एनआरसी और एनपीआर मोर्चे पर कहा कि इस पर अब हमारा काम खत्म हुआ. अब बिहार में रोजगार दिलाने को लेकर हमारा काम शुरू होगा.

पिछले दिनों तेजस्वी-नीतीश की मुलाकात के बाद सियासी गलियारों में तमाम कयास लगाए जाने लगे थे और एक तरह से बवाल खड़ा हो गया था. तेजस्वी ने हालांकि अपने बयानों के जरिए इतना तो तय किया कि नीतीश कुमार को साथ लेने में वह ज्यादा रूचि नहीं रखते. लेकिन इशारों-इशारों में ही सही, उन्होंने इतना तो कह दिया कि तब तक जब तक नीतीश बीजेपी और आरएसएस के साथ हैं. 

इसके अलावा तेजस्वी यादव ने दिल्ली हिंसा पर भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग कह रहे हैं कि दिल्ली में चुनाव हराओगे तो दिल्ली जलेगी. केंद्रीयमंत्री के बयानों से ही बीजेपी को हार मिली है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली की जनता घबराए नहीं. वहां हो रही हिंसा काफी निंदनीय है.

तेजस्वी यादव ने कहा कि देश में जनता काम के लिए मैंडेट दे रही है और अब आर्थिक मंदी पर जनता ने सरकार से सवाल करना शुरू कर दिया है. देश में किसानों की स्थिति ठीक नहीं है. बीजेपी के गुंडे लोगों को भड़काने का काम कर रहे हैं. 

इस बीच तेजस्वी यादव ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे की गिरफ्तारी नहीं होने पर भी सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि जब उनपर एफआईआर दर्ज है तो उनकी गिरफ्तारी क्यों नहीं की जा रही है. बिहार में मॉब लींचिंग की घटनाएं भी तेजी से बढ़ रही हैं.