बिहार: पर्यटन स्थल के तौर पर होगा बगहा का विकास, सीएम नीतीश कुमार कर सकते हैं दौरा

इंडिया-नेपाल बॉर्डर पर स्थित वाल्मीकि टाइगर रिजर्व से घिरे वाल्मीकिनगर को ग्राम पंचायत से नगर पंचायत में तब्दील करने की कवायद शुरू हो गई है. पर्यटन के नजरिए से इस इलाके का सुदृढ विकास हो सके

बिहार: पर्यटन स्थल के तौर पर होगा बगहा का विकास, सीएम नीतीश कुमार कर सकते हैं दौरा
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शीघ्र ही राज्य में जिलावार दौरा करेंगे

बगहा: इंडिया-नेपाल बॉर्डर पर स्थित वाल्मीकि टाइगर रिजर्व से घिरे वाल्मीकिनगर को ग्राम पंचायत से नगर पंचायत में तब्दील करने की कवायद शुरू हो गई है. पर्यटन के नजरिए से इस इलाके का सुदृढ विकास हो सके इसके लिए पश्चिम चंपारण जिला प्रशासन ने कमर कस लिया है और वाल्मीकिनगर को नगर पंचायत बनाने के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा है. जिसकी सूचना से इलाक़े के ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है. 

वहीं, बगहा एसडीएम विशाल राज का कहना है कि नगर पंचायत होने के बाद यहां विकास के रफ्तार को गति मिलेगी. उन्होंने बताया कि वाल्मीकिनगर पंचायत को नगर पंचायत और रामनगर नगर पंचायत को नगर पालिका परिषद में तब्दील करने के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है. जिससे वाल्मीकिनगर और रामनगर के इन दोनों क्षेत्रों के विकास को गति मिलेगी. खासकर पर्यटन नगरी वाल्मीकिनगर में बहुत सारे विकास के कार्य होंगे ताकि यहां देश विदेश के पर्यटकों का आकर्षण और सुविधाएं बढ़ सकें.

जानकारी के मुताबिक वाल्मीकिनगर में कन्वेंशनल सेंटर के लिए 25 एकड़ जमीन अधिग्रहण कर लिया गया है और इसके अलावा इंटरप्रेटेशन सेंटर, एक अत्याधुनिक गेस्ट हाउस एवं थ्री स्टार होटल के निर्माण की भी कवायद चल रही है. ऐसे में अब सम्भावना जताई जा रही है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शीघ्र ही राज्य में जिलावार दौरा करेंगेमुख्यमंत्री नीतीश कुमार शीघ्र ही राज्य में जिलावार दौरा करेंगे और इसकी शुरुआत सीएम नीतीश के पूर्व की सारी यात्राओं कि तरह फिर इस बार चंपारण के वाल्मीकिनगर से होगी और सीएम के संभावित दौरा में इन दोनों प्रोपोजल की स्वीकृति पर मुहर लगाएंगे साथ ही कन्वेंशनल सेंटर के निर्माण की आधारशिला भी रखेंगे जिसकी घोषणा पूर्व की प्रवास यात्रा में सीएम नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी कर चुके हैं.

इंडो नेपाल सीमा पर प्रकृति की गोद में बसे वाल्मीकिनगर पर्यटन नगरी को नगर पंचायत में तब्दील किए जाने की प्रस्ताव से ग्रामीणों में बेहद खुशी है. ग्रामीणों का कहना है कि सरकार के इस तोहफे से इस जगह का कायाकल्प होगा और विकास की नई इबारत लिखी जाएगी जब वाल्मीकिनगर गांव से शहर बन जायेगा . वाल्मीकिनगर के लोगों का कहना है कि उन्हें बेसब्री से उस स्वर्णिम पल का इंतज़ार है कि कब सूबे के मुखिया यहां आते हैं और विकास की पटकथा लिख इन सभी तोहफों को उनकी झोली में डालते हैं.

बता दें कि सीएम नीतीश कुमार की सारी चुनावी और चुनाव पूर्व की यात्राओं की शुरुआत चंपारण से ही हुई है और इस बार भी चुनावी साल है ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि यह प्रस्ताव सीएम नीतीश कुमार के आदेश पर मंगाया गया है ताकि वाल्मीकिनगर का सर्वांगीण विकास हो सके .