जनता की लाश पर शासन करने चाहते हैं CM नीतीश कुमार: RJD

भाई वीरेंद्र ने कहा है कि, सीएम नीतीश कुमार को ये सूझ नहीं रहा है कि, बिहार में कोरोना किस तरह से फैल रहा है. सीएम नीतीश कुमार जनता की लाश पर शासन चलाना चाहते हैं.

जनता की लाश पर शासन करने चाहते हैं CM नीतीश कुमार: RJD
जेडीयू की पहली वर्चुअल रैली को लेकर अब आरजेडी ने सवाल उठाए हैं.

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Chunav 2020) की तैयारी जेडीयू (JDU) ने भी शुरू कर दी है. बीजेपी (BJP) की राह पर चलते हुए जेडीयू ने भी इस बार डिजिटल माध्यम (Digital Medium) को चुनाव के लिए अपना प्रचार का हथियार बनाया है और इसी क्रम में जेडीयू सात अगस्त को अपनी पहली वर्चुअल रैली (Virtual Rally) करने जा रही है, जिसको पार्टी चीफ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) संबोधित करेंगे.

जेडीयू की पहली वर्चुअल रैली को लेकर अब आरजेडी ने सवाल उठाए हैं. आरजेडी के मुख्य प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने कहा है कि, सीएम नीतीश कुमार को ये सूझ नहीं रहा है कि, बिहार में कोरोना किस तरह से फैल रहा है. सीएम नीतीश कुमार जनता की लाश पर शासन चलाना चाहते हैं.

आरजेडी नेता ने कहा कि, वर्चुअल रैली के द्वारा नीतीश कुमार जनता को खरीदना चाह रहे हैं. लेकिन जनता तय कर चुकी है कि उन्हें सत्ता से बाहर करेगी. आज राजधानी पटना हो या फिर बिहार में अन्य जगह, हर तरफ कोरोना संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है .

बता दें कि, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी सात अगस्त को बिहार में अपनी पहली राजनीतिक वर्चुअल रैली को संबोधित करेंगे. इस रैली को लेकर जेडीयू ने अपनी तैयारी प्रारंभ कर दी है. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के प्रमुख घटक दल जेडीयू के प्रमुख की इस रैली को सफल बनाने के लिए और अधिक से अधिक कार्यकर्ताओं को इससे जोड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं. यही कारण है कि इससे पहले पार्टी कई और वर्चुअल रैली कर लोगों से मुख्यमंत्री की रैली में शामिल होने की अपील की जाएगी.

जेडीयू के एक नेता ने बताया कि, राष्ट्रीय संगठन महासचिव रामचन्द्र प्रसाद सिंह सात जुलाई को छात्र जेडीयू की बैठक के साथ प्रकोष्ठों की बैठक करेंगे. इस वर्चुअल बैठक में आठ जुलाई को अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ, नौ जुलाई को महिला प्रकोष्ठ, 10 जुलाई को महादलित प्रकोष्ठ, 11 जुलाई को युवा जेडीयू, 12 जुलाई को व्यावसायिक प्रकोष्ठ, 13 जुलाई को किसान प्रकोष्ठ तथा 14 एवं 15 जुलाई को पार्टी के विभिन्न प्रकोष्ठों के साथ वर्चुअल बैठक की जाएगी.

इसके बाद सिंह 16 जुलाई को पार्टी के सभी क्षेत्रीय प्रभारी, जिलाध्यक्ष, जिला संगठन प्रभारी, प्रदेश एवं जिला पार्टी द्वारा नामित विधानसभा प्रभारी तथा प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्षों के साथ वर्चुअल बैठक करेंगे. जेडीयू की विधानसभावार वर्चुअल सम्मेलन 18 से 31 जुलाई तक आयोजित होगी, जिसके लिए टीमों का गठन किया गया है. प्रत्येक टीम को प्रतिदिन छह विधानसभा क्षेत्र के लोगों को संबोधित करने का दायित्व सौंपा गया है.