पटना: NMCH के डॉक्टरों का हड़ताल जारी, मरीजों का हाल बेहाल
topStorieshindi

पटना: NMCH के डॉक्टरों का हड़ताल जारी, मरीजों का हाल बेहाल

जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से ओपीडी और इमरजेंसी सेवा प्रभावित है. जिसकी वजह से नए मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है. मरीजों के अस्पताल में भर्ती नहीं होने से मरीजों के परिजन गुस्सें में है और गुस्साए परिजनों ने एनएमसीएच पथ को जाम कर जमकर हंगामा किया. 

पटना: NMCH के डॉक्टरों का हड़ताल जारी, मरीजों का हाल बेहाल

पटना: बिहार की राजधानी पटना के दूसरे सबसे बड़े अस्पताल में मंगलवार एनएमसीएच तीसरे दिन भी जूनियर डॉक्टरों कि हड़ताल जारी है. हड़ताली डॉक्टरों कि वजह से मरीजों का हाल बेहाल है. मरीज परेशान है और दर्द से चीख रहे हैं लेकिन जूनियर डॉक्टर अपनी मांगो पर अडिग हैं. डॉक्टरों का साफ कहना है कि जब तक उनकी मांगों को नहीं पूरा किया जाता है तब तक हड़ताल जारी रहेगी.

जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से ओपीडी और इमरजेंसी सेवा प्रभावित है. जिसकी वजह से नए मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है. मरीजों के अस्पताल में भर्ती नहीं होने से मरीजों के परिजन गुस्सें में है और गुस्साए परिजनों ने एनएमसीएच पथ को जाम कर जमकर हंगामा किया. लोगों का कहना है कि वो दूर-दूर से अस्पताल में इलाज कराने आते हैं लेकिन इलाज ना मिलने से उन्हे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है.

बीमार मरीजों के परिजनों ने आरोप लगाया है कि अस्पताल में भष्ट्राचार होता है. इलाज ना मिलने के कारण मरीजों को दूसरी जगह इलाज के लिए जाना पड़ रहा है जिससे लोगों का काफी दिक्कतें तो हो ही रही है और साथ ही पैसा भी ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है. एक तरफ इलाज ना मिलने से गुस्साए परिजन हैं तो दूसरी तरफ हड़ताली डॉक्टर्स हैं जो अपनी मांगो को लेकर धरना-प्रदर्शन पर बेठे हैं.

आपको बता दें कि हड़ताली डॉक्टरों की मांग है कि दोषी परिजनों पर कार्यवाई हो और डॉक्टरों की सुरक्षा का पूरा इंतजाम अस्पताल प्रशासन की ओर से किया जाए. जिसके बाद ही जूनियर डॉक्टर हड़ताल से वापस लौटेंगे.
Preeti Negi, News Desk

Trending news