close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: भारी बारिश से NMCH हुआ पानी-पानी, वॉर्ड में तैर रही हैं मछलियां

वार्ड के मरीजों को मीटिंग हॉल और अस्पताल के दूसरे मंजिल पर ट्रांसफर किया जा रहा है. अस्पताल परिसर में खड़ी एंबुलेंस पानी में डूब जाने से रेफर किये जाने वाले मरीजों के परिजन भी परेशान हैं. 

बिहार: भारी बारिश से NMCH हुआ पानी-पानी, वॉर्ड में तैर रही हैं मछलियां
जलजमाव से NMCH में परेशान हैं परिजन.

प्रवीण कांत, पटना : बिहार में लगातार हो रही बारिश से पटना स्थित नालंदा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (NMCH) तालाब में तब्दील हो गया है. हालात ऐसे हैं कि वार्डों में मरीजों के बेड तक पानी पहुंच गया है. बड़ी-बड़ी मछलियां तैरने लगीं हैं. बाहर मरीजों को लाने के लिए स्ट्रेचर का इस्तेमाल किया जा रहा है. इतना ही नहीं एंबुलेंस भी पानी में डूबी हुई है. कहीं-कहीं जुगाड़ की नाव से लोग एनएचसीएच आते दिख रहे हैं. वार्डों का हाल बेहाल है. बारिश को देखते हुए आईसीयू के सीरियस मरीजों को पीएमसीएच (PMCH) रेफर किया जा रहा है.

वहीं, वार्ड के मरीजों को मीटिंग हॉल और अस्पताल के दूसरे मंजिल पर ट्रांसफर किया जा रहा है. अस्पताल परिसर में खड़ी एंबुलेंस पानी में डूब जाने से रेफर किये जाने वाले मरीजों के परिजन भी परेशान हैं. साथ ही रेस्क्यू के लिए एनडीआरएफ (NDRF) की टीम को सूचना दी गई है.

मरीजों के परिजनों का कहना है कि पानी वॉर्ड में भर जाने से मरीज का सही से इलाज नहीं हो पा रहा है. बच्चों के आईसूयू वार्ड में पानी भर जाने से इलाज नहीं हो पा रहा है. डॉक्टर भी बच्चा वॉर्ड नहीं आ रहे हैं. परिजन बच्चों को कंधे पर लेकर वॉर्ड से बाहर जाने को मजबूर हैं. परिस्थिति ऐसी है कि अस्पताल के वार्ड में जमा पानी में मछली भी देखी जा रही है.

अस्पताल के कर्मचारी और नर्स सरकार के खोखले दावों और व्यवस्था से नाखुश हैं. वह इसके लिए सरकार को जिम्मेवार ठहरा रहे हैं. अस्पताल अधीक्षक का कहना है कि जलजमाव वाले वॉर्ड में भर्ती मरीजों को मीटिंग हॉल और दूसरे मंजिल के वॉर्ड में शिफ्ट किया जा रहा है. आईसीओ में भर्ती सीरियस मरीजों को पीएमसीएच रेफर किया जा रहा है. साथ ही रेस्क्यू के लिए NDRF टीम को सूचना दी गई है और टीम की मदद से अन्य मरीजों को दूसरे वॉर्ड में शिफ्ट किया जाएगा.