बिहार दौरे पर PM ने RJD शासनकाल की जमकर बखिया उधेड़ी, कहा- पीढ़ी बदली है, उस दौर की यादें नहीं

उन्होंने कहा कि आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार के नौजवानों को ये याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे?

बिहार दौरे पर PM ने RJD शासनकाल की जमकर बखिया उधेड़ी, कहा- पीढ़ी बदली है, उस दौर की यादें नहीं
बिहार दौरे पर PM ने RJD शासनकाल की जमकर बखिया उधेड़ी, कहा- पीढ़ी बदली है, उस दौर की यादें नहीं.

पटना: बिहार दौरे पर चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी (PM Modi) ने जनता से लोकल चीजों को अपनाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि त्योहारों का सीजन है. इसलिए जो भी खरीदारी आप करेंगे, अधिक से अधिक लोकल खरीदिए. हमारे मिट्टी के हस्तशिल्पियों, दूसरे शिल्पियों के बनाए बर्तन, दीए, खिलौने जरूर खरीदिए. हम मिलकर कोशिश करेंगे तो बिहार भी आत्मनिर्भर होगा, भारत भी आत्मनिर्भर होगा.

पीएम ने आरजेडी पर निशाना साधते हुए कहा बिहार के लोगों ने मन बना लिया है. ठान लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी नहीं भटकने देंगे. जितने सर्वे हो रहे हैं, जितनी रिपोर्ट आ रही है, सभी में ये ही आ रहा है कि बिहार में फिर एक बार एनडीए की सरकार बनने जा रही है.

बिहार के लोग भूल नहीं सकते वो दिन जब सूरज ढ़लने का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप्प पड़ जाना. आज बिजली है, सड़के हैं, लाइटें हैं और सबसे बड़ी बात वो माहौल है जिसमें राज्य का सामान्य नागरिक बिना डरे रह सकता है, जी सकता है. जिन लोगों ने सरकारी नियुक्तियों के लिए बिहार के नौजवानों से लाखों की रिश्वत खाई, वो फिर बढ़ते हुए बिहार को ललचाई नजरों से देख रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार के नौजवानों को ये याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे?

आरजेडी और लालू कार्यकाल पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा बिहार के विकास की हर योजना को अटकाने और लटकाने वाले ये लोग हैं जिन्होंने अपने 15 साल के शासन में लगातार बिहार को लूटा. आपने बहुत विश्वास के साथ सत्ता सौंपी थी लेकिन इन्होंने सत्ता को अपनी तिजोरी भरने का माध्यम बना लिया. 

जब बिहार के लोगों ने इन्हें सत्ता से बेदखल कर दिया, नीतीश जी को मौका दिया तो ये बौखला गए. इसके बाद दस साल तक इन लोगों ने यूपीए की सरकार में रहते हुए बिहार पर, बिहार के लोगों पर अपना गुस्सा निकाला.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि 90 के दशक में बिहार के लोगों का अहित किया गया. बिहार को अराजकता और अव्यवस्था के किस दलदल में धकेल दिया. ये आप में से अधिकांश ने अनुभव किया है. आज भी बिहार की अनेक समस्याओं की जड़ में 90 के दशक की अव्यवस्था और कुशासन है. 

ये वो दौर था जब लोग कोई गाड़ी नहीं खरीदते थे, ताकि एक राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ताओं को उनकी कमाई का पता न चल जाए. ये वो दौर था जब एक शहर से दूसरे शहर में जाते वक्त ये पक्का नहीं रहता था कि उसी शहर पहुंचेंगे या बीच में किडनैप हो जाएंगे.