close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भोजपुर: मूर्ति विसर्जन के दौरान विवाद में अपराधियों ने मारी युवक को गोली, हालत गंभीर

बिहार के भोजपुर में मूर्ति विसर्जन के दौरान एक शख्स को अपराधियों ने गोली मारकर जख्मी कर दिया. युवक को गंभीर हालत में पीएमसीएच रेफर किया गया है. 

भोजपुर: मूर्ति विसर्जन के दौरान विवाद में अपराधियों ने मारी युवक को गोली, हालत गंभीर
बेहतर इलाज के लिए युवक को पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया है.

भोजपुर: बिहार के भोजपुर में मूर्ति विसर्जन के दौरान उपजे विवाद में एक शख्स को अपराधियों ने गोली मारकर जख्मी कर दिया. इस घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी का मच गई. अपराधियों द्वारा गोलीबारी की इस वारदात के बाद स्थानीय लोगों ने जख्मी पड़े युवक को गंभीर अवस्था में इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल लाया. जहां अस्पताल में मौजूद चिकित्सकों ने युवक की हालत नाजुक देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया है.

घटना जिले के नगर थाना क्षेत्र के तरी मुहल्ला की है. मिली जानकारी के अनुसार नगर थाना क्षेत्र के तरी मुहल्ला निवासी स्वर्गीय राम बाबू प्रसाद के 25 वर्षीय पुत्र सरोज कुमार के बड़े भाई मनोज कुमार के साथ मुहल्ले के ही नामजद युवकों के बीच दुर्गा विसर्जन के दौरान किसी बात को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ था. विवाद इतना तूल पकड़ा की नामजद बदमाशों ने सरोज के बड़े भाई मनोज की बुरी तरह से पिटाई कर दी. 

जब सरोज अपने भाई को बचाने के लिए पहुंचा तो आरोपियों ने उसे भी नहीं बख्शा और उसे गोली मारकर जख्मी कर दिया. घटना की जानकारी जैसे ही जख्मी युवक के परिजनों को मिली उनके बीच खलबली मच गई और आनन-फानन में जख्मी सरोज को इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल लाया गया. जहां जख्मी हालत में नाजुक को देखते हुए अस्पताल के चिकित्सकों ने बेहतर उपचार हेतु पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया.

युवक को पैर में गोली लगी है. वहीं, घटना की सूचना मिलते ही नगर थानाध्यक्ष जनमेजय राय दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंच पूरे मामले की छानबीन में जुट गए हैं. पुलिस फिलहाल इस मामले में तुरंत कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर घटना में इस्तेमाल किए पिस्टल को भी बरामद कर लिया है.

पुलिस गिरफ्तार आरोपी से पुछताछ कर अन्य नामजद बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है. बहरहाल जब इस पूरे घटनाक्रम में नगर कोतवाल जनमेजय राय से जानने की कोशिश की गई तो वह कैमरे पर घटना के बारे में बोलने से साफ इंकार कर दिया.