close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिरसा मुंडा कारा में एक और कैदी की मौत, 'भागने के क्रम में पेड़ से गिरने से गई जान'

सुनील के परिजन बुढ़मू इलाके में रहते हैं. बुढ़मू थाने की टीम के द्वारा परिजनों को सुनील की मौत की जानकारी दे दी गई है. 

बिरसा मुंडा कारा में एक और कैदी की मौत, 'भागने के क्रम में पेड़ से गिरने से गई जान'
बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में एक और कैदी की मौत.

रांची: झारखंड की राजधानी रांची के बिरसा मुंडा जेल इन दिनों चर्चा में है, क्योंकि जेल में बंद कैदियों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. दो अक्टूबर को हुई गगन की मौत का पोस्टमार्टम रिपोर्ट आया भी नहीं था कि फिर से जेल परिसर में एक कैदी की मौत हो गई. रांची के पिठोरिया में पिछले साल हुई बैंक डकैती में सुनील सिंह आरोपी था. इस घटना में शामिल चार अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन सुनील फरार चल रहा था.

सुनील ने इसी साल कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. इसके बाद उसे बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार भेज दिया गया था. जेल प्रशासन की मानें तो जेल से भागने के प्रयास के दौरान पेड़ से गिरकर सुनील सिंह की मौत हुई है. शव को पोस्टमार्टम के लिए रांची के रिम्स भेज दिया गया है.

सुनील के परिजन बुढ़मू इलाके में रहते हैं. बुढ़मू थाने की टीम के द्वारा परिजनों को सुनील की मौत की जानकारी दे दी गई है. परिजन बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार पहुंचकर परिजनों ने मौत को लेकर संदेह जाहिर किया है. परिजनों का आरोप है कि जेल प्रशासन की मिलीभगत की वजह से मौत हुई है. बताया रहा है कि वह बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार के वॉच टावर संख्या 11 और 12 के बीच स्थित पीपल के पेड़ पर चढ़कर बाउंड्री वाल को फांदने की कोशिश कर रहा था. इसी बीच वह जमीन पर गिर पड़ा. जमीन पर गिरने की वजह से उसके सिर में गहरी चोट चोट लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई.

बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में कैदियों की मौत की वजह से चर्चा में है तो हर मौत की गुत्थी को जेल प्रशासन दुर्घटना घटना बताते हुए कुछ भी कहने से इनकार कर रही है. इन सबके बीच सवाल उठता है कि आखिर जेल प्रशासन के किन अधिकारियों के द्वारा लापरवाही बरती जा रही है, जिसका हर्जाना कैदियों को जान देकर चुकाना पड़ रहा है.