बिहार: गया के एक गांव में डायरिया ने बरपाया कहर, 50 से अधिक लोग पीड़ित

 डायरिया से एक शख्स की मौत हो चुकी है जबकि 50 से ज्यादा लोग पीड़ित हैं. सबसे ज्यादार इसके मरीज इमामगंज प्रखंड के बागेबार, देवरिया गांव के हैं.

बिहार: गया के एक गांव में डायरिया ने बरपाया कहर, 50 से अधिक लोग पीड़ित
डायरिया से एक शख्स की मौत हो चुकी है जबकि 50 से ज्यादा लोग पीड़ित हैं.

गया: बिहार के गया में डायरिया ने जबरदस्त कहर बरपा रखा है. डायरिया से एक शख्स की मौत हो चुकी है जबकि 50 से ज्यादा लोग पीड़ित हैं. सबसे ज्यादार इसके मरीज इमामगंज प्रखंड के बागेबार, देवरिया गांव के हैं.

गांव का शायद ही कोई ऐसा घर होगा जहां कोई बीमार नहीं होगा, लोग उल्टी-दस्त से परेशान हैं. प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की टीम इलाके में कैंप कर रही है. लोगों का आरोप है कि उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सुविधा नहीं दी जा रही है और ना ही ओआरएस का पैकेट दिया जा रहा है.

उल्टी-दस्त के कारण उस गांव के लगभग 4 दर्जन से अधिक ग्रामीण ग्रसित हो चुके है और स्थानीय चिकित्सक के द्वारा घर पर ही इलाज करवा रहे हैं. वहीं, डायरिया की सूचना मिलने पर पीएचसी बागेबार गांव पहुंची और गांव के हालात की जानकारी हासिल की.

पीएचसी में समुचित व्यवस्था नही होने से ग्रामीणों को परेशानी हो रही है. वहीं, ग्रामीणों ने बताया कि रविवार की देर रात्रि करीब 10 बजे के करीब से ही लोगों को उल्टी-दस्त शुरू होने लगा, इससे लभग दो दर्जन लोग डायरिया से ग्रसित होने लगे. ग्रामीणों ने इसकी सूचना इमामगंज सिविल सर्जन को दिया. इसकी सूचना मिलते हुए उस गांव में एक डॉक्टर के टीम के साथ एम्बुलेंस को भेजा और वहां से पीड़ित मरीजों को इमामगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इलाज हेतु लाया गया.

मीणों ने बताया कि इमामगंज स्वास्थ्य केंद्र आने बाद भी मरीजों को उचित सुविधा नहीं दिया जा रहा है. गांव में सिर्फ दो बार की एम्बुलेंस व डॉक्टर आए हैं. लोगों ने उस गांव में उचित सुविधा उपलब्ध कराने का मांग आला अधिकारीयों किया है.