close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: पटना की कीमतों में आई थोड़ी कमी, बारिश के कारण सब्जी हुई महंगी

महाराष्ट्र में आई बारिश के कारण पूरे उत्तर भारत में प्याज की कीमतों में इजाफा हो रहा है. प्याज ही नहीं, अन्य हरी सब्जियों के दाम भी बढ़े हैं.

बिहार: पटना की कीमतों में आई थोड़ी कमी, बारिश के कारण सब्जी हुई महंगी
पटना में प्याज की कीमतों में आई थोड़ी कमी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना : प्याज (Onion) इन दिनों लोगों के आंसू निकाल रहे हैं. बिहार की राजधानी पटना (Patna) में प्याज की कीमतें 80 रुपए किलो तक पहुंच गई थी. आज यानी गुरुवार को कीमतों में थोड़ी कमी आई है. पटना के बाजार में 60 से 70 रुपए किलो प्याज मिल रहे हैं. खबर है कि थोक बाजार में दाम घटने के कारण खुदरा दुकानदारों ने भी प्याज के भाव कम कर दिए हैं. दुकानदारों का कहना है कि बढ़ी कीमतों के कारण दुकानदारों ने प्याज खरीदना कम कर दिया है.

बतया जा रहा है महाराष्ट्र में आई बारिश के कारण पूरे उत्तर भारत में प्याज की कीमतों में इजाफा हो रहा है. प्याज ही नहीं, अन्य हरी सब्जियों के दाम भी बढ़े हैं.

पटना के सब्जी बाजार में इन दिनों बैंगन 80 रुपए किलो मिल रहा है, जो पहले 20 रुपए किलो मिलता था. टमाटार का दाम भी 80 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गया है. पहले 40 रुपए मिलता था. फूलगोभी का दाम भी दोगुना हो गया है. इन दिनों 80 रुपए प्रति किलो है.

हाल ही में केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने सब्‍जियों के जमाखोरों को चेताते हुए कहा था कि हमारे पास कार्रवाई करने के सभी तरीके मौजूद हैं. हमें इसके लिए मजबूर नहीं करें. साथ ही उन्‍होंने कई राज्‍यों में आई बाढ़ को प्‍याज के दामों के बढ़ने का कारण बताया था. रामविलास पासवान ने कहा था कि 'मुझे मंत्री के तौर पर किसान और उपभोक्‍ताओं दोनों का ख्याल रखना होता है. सितंबर, अक्टूबर और नवंबर खतरनाक महीना होता है. इन तीन महीनों में हर साल सब्जियों के दाम बढ़ते हैं. उन्‍होंने कहा कि कई राज्‍यों में आई बाढ़ की वजह से ट्रांसपोर्ट की प्रॉब्लम आ रही है.'

रामविलास पासवान ने कहा था कि हमारे पास 50,000 टन प्याज बफर स्टॉक में है. 15,000 टन निकल चुके हैं. अभी भी हमारे पास 30,000 टन प्याज़ स्टॉक में है. उन्‍होंने कहा कि हमने सभी राज्यों को बोला है कि वे प्याज लेकर जनता को मुहैया करा सकते हैं.