close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार : पटना में प्याज की कीमत में जबरदस्त इजाफा, 45 रुपए तक पहुंचा भाव

प्याज के बढ़े भाव ने उपभोक्ताओं को बेहाल कर दिया है. प्याज के भारी दाम ने खाने का टेस्ट भी बिगाड़ दिया है.

बिहार : पटना में प्याज की कीमत में जबरदस्त इजाफा, 45 रुपए तक पहुंचा भाव
पटना में प्याज के भाव बढ़े. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना : बिहार की राजधानी पटना में प्याज का 'रंग' और लाल हो गया है. या कह लीजिए कि प्याज की कीमत लोगों के आंसू निकाल रहे हैं. बीते 15 से 20 दिनों में प्याज की कीमतों में 10 से 15 रुपए तक की वृद्धि हुई है. प्याज का दर थोक से लेकर खुदरा बाजार तक बढ़ गए हैं. बिहार में प्याज का थोक भाव 29 रुपए प्रति किलो है. वहीं, खुदरा बाजार में इसकी कीमत 45 रुपए के पार है.

थोक बाजार में प्याज का दाम 2900 रुपए प्रति क्विंटल है. थोक व्यापारियों की माने तो नासिक से सप्लाई में कमी आई है. प्याज की आपूर्ति डिमांड के हिसाब से नहीं हो पा रही है. नासिक में बारिश हो रही है. इस कारण बिहार के बाजार में प्याज नहीं पहुंच रहा है. व्यापारियों ने बताया है कि 15 से 20 दिन पहले तक प्याज का भाव 1500 रुपए प्रति क्विंटल था.

खुदरा में प्याज का भाव 45 रुपए प्रति किलोग्राम के पार पहुंच गया है. प्याज के बढ़े भाव ने उपभोक्ताओं को बेहाल कर दिया है. किचन से प्याज गायब हो रहे हैं. प्याज के भारी दाम ने खाने का टेस्ट भी बिगाड़ दिया है. आम उपभोक्ता सरकार को कोस रहे हैं. घर की महिलाएं बताती हैं कि प्याज के दाम बढ़ने से यह अब किचन से दूर हो रहा है. सरकार को कोई कमद उठानी चाहिए.

वहीं, प्याज के दाम में भारी वृद्धि पर बिहार में सियासत शुरु हो गई है. आरजेडी ने कहा है कि देश और बिहार की सरकार किसान विरोधी है. किसानों को किसी तरह की सब्सिडी नहीं मिल रही है और न ही कोई सुविधाएं. इस कारण से किसानों का खेती से मोह भंग हो चुका है. आरजेडी ने आरोप लगाया कि सरकार बाजार को कंट्रोल करने के लिए कोई कदम भी नहीं उठाती है. हर स्तर पर सरकार फेल है. नतीजा है कि प्याज के भाव सातवें आसमान पर हैं.

विपक्ष के आरोप को सरकार ने खारिज कर दिया है. प्याज के भाव चढ़ने के लिए सरकार में बैठी जेडीयू का अपना तर्क है. मंत्री अशोक चौधरी ने कहा है कि बिहार में महाराष्ट्र से प्याज की आपूर्ती भारी पैमाने पर होती है. वहां पर बाढ़ की स्थिति है. बाढ़ में प्याज के फसल बर्बाद हो चुके हैं. इसी के कारण बिहार में प्याज का दाम चढ़ गया है. आशोक चौधरी ने कहा है कि वैसे भी बरसात में प्याज के भाव अधिक होते हैं. इस मौसम के खत्म होते ही कम हो जाएगा.

थोक व्यापारियों पर नकेल कसने के सवाल पर उन्होने कहा है कि बिहार सरकार पूरे मामले को देखेगी. जरुरत पड़ी तो थोक व्यापारियों पर कार्रवाई की जायेगी. मीडिया के माध्यम से यह पता चल रहा है कि प्याज के दाम बढ़े हुए हैं. सरकार जरूर कदम उठाएगी.

लाइव टीवी देखें-: