श्रमिकों को वापस लाने के मामले पर भिड़े पक्ष-विपक्ष, RJD बोली- सरकारी दावों में नहीं है सच्चाई

श्रमिकों की वापसी पर आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने सवाल करते हुए कहा कि कुछ भी कहें, सबको वापस नहीं ला पाएंगे. सरकारी दावों में दूर-दूर तक सच्चाई नहीं है.

श्रमिकों को वापस लाने के मामले पर भिड़े पक्ष-विपक्ष, RJD बोली- सरकारी दावों में नहीं है सच्चाई
श्रमिकों को वापस लाने के मामले पर भिड़े पक्ष-विपक्ष, RJD बोली- सरकारी दावों में नहीं है सच्चाई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: प्रवासी श्रमिकों को वापस लाने के मामले में आरजेडी ने बिहार सरकार के दावे पर फिर से सवाल उठाया है. सभी प्रवासियों को वापस लाने की दावे की हवा-हवाई करार दिया है. वही, जेडीयू ने विपक्ष के सवाल पर ही सवाल खड़ा कर दिया और कहा कि सरकार अपना बेस्ट कर रही है. हमको विपक्ष के नसीहत की जरूरत नहीं है. 

श्रमिकों की वापसी पर आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने सवाल करते हुए कहा कि कुछ भी कहें, सबको वापस नहीं ला पाएंगे. सरकारी दावों में दूर-दूर तक सच्चाई नहीं है.

कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि प्रवासियों के आने का सिलसिला जिस तरह से आगे बढ़ रहा है, राजनीति भी वैसे ही आगे बढ़ती जा रही है. अभी तक प्रवासियों की वापसी पर सवाल उठा रहे विपक्ष ने अब सरकार के दावे पर सवाल खड़ा कर दिया है.

आरजेडी का कहना है कि जितने लोग वापस आना चाहते है, उनको सरकार वापस नहीं ला पाएगी. कांग्रेस ने भी सहयोगी आरजेडी का समर्थन किया है.

विपक्ष के सवाल को सत्ताधारी जेडीयू और बीजेपी ने गलत बताया. जेडीयू नेता जय कुमार सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा पर सवाल खड़ा करने के अलावा विपक्ष के पास और कोई काम नहीं है. कोरोना के संक्रमण काल मे विपक्ष सिर्फ राजनीति कर रहा है.

बिहार सरकार में मंत्री राणा रणधीर ने कहा कि सत्ता और विपक्ष में आरोप प्रत्यारोप के बीच सच्चाई ये है कि बिहार में प्रवासी श्रमिकों के वापस आने का सिलसिला जारी है, जिस तरह की भीड़ हाइवे पर तीन चार दिन पहले तक दिखती थी, अब उसमें कमी आयी है. इससे साफ है कि सरकार की ओर से की गई तैयारियों का फायदा श्रमिकों को मिला है.