झारखंड: रघुवर दास ने किया जीत के दावों पर सियासत तेज, विपक्ष ने की ऐसी भविष्यवाणी

सूबे के मुखिया रघुवर दास ने महागठबंधन को एकबार फिर ठगबंधन बताया और कांग्रेस को लुटेरा कहा. उन्होंने लोकसभा चुनाव में सभी सीटें और विधानसभा में 60 से अधिक सीट जीतने का दावा किया. 

झारखंड: रघुवर दास ने किया जीत के दावों पर सियासत तेज, विपक्ष ने की ऐसी भविष्यवाणी
रघुवर दास ने महागठबंधन को एकबार फिर ठगबंधन बताया और कांग्रेस को लुटेरा कहा.

कुमार चंदन, रांची: झारखंड में लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी शोर अभी से ही सुनाई देने लगा है. सूबे के मुखिया रघुवर दास ने महागठबंधन को एक बार फिर ठगबंधन और कांग्रेस को लुटेरा कहा. उन्होंने लोकसभा चुनाव में सभी सीटें और विधानसभा में 60 से अधिक सीट जीतने का दावा किया. 

रघुवर दास के इस बयान से तिलमिलाए विरोधियों ने पलटवार करते हुए बीजेपी को लूट का एक्सपर्ट बताया हुए होलसेल में लूट करने का आरोप लगाया. कांग्रेस ने साथ ही कहा कि देश का मूड बदल चुका है और हम एक होकर लड़ेगें और इन्हें खड़ा होने की जगह तक नहीं देगें.

सुबोधकांत सहाय

सीएम के इस बयान पर बीजेपी विरोधियों ने भी जोरदार पलटवार किया है. कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय ने कहा महागठबंधन अपनी ताकत के बदौलत, मध्यप्रदेश, राजस्थान और छतीसगढ़ में जीत दर्ज की है औ  झारखंड में यही होने वाला है. साथ ही उन्होंने बीजेपी को लूट का एक्सस्पर्ट बताते हुए कहा ये हॉलसेल में लूटते हैं. नोटबन्दी जैसा ऑर्गेनाइज्ड लूट करते हैं.

सुबोधकांत यहीं नहीं रुके, उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को मदारी तो मुख्यमन्त्री को उनका जमूरा तक कह डाला. साथ ही कहा बीजेपी को बताने के लिए कुछ है नहीं इसलिए इनके दिन की शुरुआत कांग्रेस को गाली देने से शुरू होता है और उसी से खत्म भी होता है.

जेवीएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने भी मुख्यमंत्री के दावों पर जोरदार पलटवार करते हुए कहा कि अगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में झारखंड में बीजेपी को ढूंढना मुश्किल हो जाएगा. वहीं, तो जेएमएम ने भी सीएम के जीत के दावे को खारिज करते हुए कहा कि बीजेपी विधानसभा में दहाई का आंकड़ा भी नहीं पार कर पाएगी. साथ ही जेएमएम ने लोकसभा में बीजेपी के 1 से 2 सीटों तक सिमट जाने की भी भविष्यवाणी की है. 

मिशन 19 के आधिकारिक ऐलान में तो फिलहाल वक्त है लेकिन इसे लेकर बेचैनी सभी राजनीतिक पार्टियों में नजर आनी लगी है. सत्ता हासिल करने की होड़ में बीजेपी ने अपने विकास पर दावा किया है तो, विरोधियों की खामियों को जनता के बीच उजागर करने की कोशिश भी दिख रही है.