बिहार: शिवानंद तिवारी बोले- NPR ही NRC की शुरुआत, BJP ने किया पलटवार

बीजेपी विधायक संजीव चौरसिया ने कहा कि एनडीए शासित राज्यो में विपक्ष जानबूझकर माहौल खराब करना चाह रहा है. सरकार नियमपूर्वक सख्ती से एनपीआर पर काम करेगी.

बिहार: शिवानंद तिवारी बोले- NPR ही NRC की शुरुआत, BJP ने किया पलटवार
शिवानंद तिवारी ने कहा कि सीएम नीतीश आश्वासन दें कि एनपीआर,एनआरसी नहीं है.

पटना: बीजेपी के वरिष्ठ नेता और बिहार में डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi) ने शनिवार को ऐलान किया था कि राज्य में एनपीआर (NPR) का काम 15 मई से शुरू हो जाएगा. सुशील मोदी के ऐलान के बाद एक बार फिर सूबे की सियासत गरमा गई है. आरजेडी, कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दल अब इस पर हमलावर हो गए हैं.

इसी क्रम में पू्र्व सांसद शिवानंद तिवारी ने कहा है कि बिहार में एनपीआर पर काम सरकार को करना है. बीजेपी के नेता इसे अपना एजेंडा बनाकर क्यों बयान दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) आश्वासन दें कि ये एनपीआर, एनआरसी (NRC) नहीं है.

शिवानंद तिवारी ने कहा कि एनपीआर ही एनआरसी की शुरुआत है. 2003 में अटल जी ने भी एनपीआर के जरिए ही एनआरसी लाने की कोशिश की थी. उस समय नीतीश कुमार केंद्र सरकार में मंत्री थे. पूर्व सांसद ने कहा कि आरजेडी एनआरसी का विरोधी करती है.

वहीं, बीजेपी (BJP) विधायक संजीव चौरसिया ने कहा कि एनडीए (NDA) शासित राज्यो में विपक्ष जानबूझकर माहौल खराब करना चाह रहा है. सरकार नियमपूर्वक सख्ती से एनपीआर पर काम करेगी. उन्होंने कहा कि विपक्ष को बताना चाहिए कि मनमोहन सिंह के समय एनपीआर पर काम शुरू हुआ था या नहीं.

संजीव चौरसिया ने कहा कि सीएए (CAA) को लेकर विपक्ष के अफवाह की हवा निकल चुकी है. जनता इनके झांसे में नहीं आने वाली है. इधर, कांग्रेस ने भी सुशील मोदी के बयान पर हमला किया है. 

प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने कहा है कि सुशील मोदी ने एनपीआर में सहयोग नही करने वाले को दंड देने की बात कही है. सरकार में जेडीयू (JDU) कोटा के ही मंत्री ने एनपीआर पर सुशील मोदी की राय को उनकी निजी राय बताया है. तो क्या सुशील मोदी नीतीश कुमार को दंड देंगे. क्या एनपीआर के मसले पर सुशील मोदी, नीतीश कुमार को मई 2020 में सत्ता से बाहर करेंगे.