close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड : धर्मांतरण कराने पर पंचायत ने सुनाया तुगलकी फरमान, हुक्का-पानी बंद करने का आदेश

इस पूरे मामले में जिला प्रशासन की तरफ से अब तक कोई ठोस पहल नहीं किया गया है. इस कारण पीड़ित परिवार परेशान है. 

झारखंड : धर्मांतरण कराने पर पंचायत ने सुनाया तुगलकी फरमान, हुक्का-पानी बंद करने का आदेश
लातेहार के इसी गांव में धर्मांतरण की बात सामने आई है.

संजीव कुमार गिरी, लातेहार : झारखंड के लातेहार के चंदवा थाना क्षेत्र स्थित बनहर्दी गांव में धर्म परिवर्तन करने वालों को गांव वालों ने तुगलकी फरमान सुनाया है. उनका हुक्का पानी बंद कर दिया गया है. गांव वालों का कहना है कि धर्म परिवर्तन किए ये लोग जब तक अपने पुराने धर्म में वापस नहीं आ जाते हैं तब तक गांव के कुआं और हैंडपंप से पानी भरने पर भी प्रतिबंध है. इतना ही नहीं, गांव के सरकारी राशन दुकान से अनाज उठाने पर भी रोक लगा दी गई है.

इस प्रतिबंध से पांच परिवार भयभीत है. इस घटना को लेकर अब तक जिला प्रशासन ने कोई ठोस पहल नहीं किया है. लोगों ने इसकी शिकायत जिला प्रशासन से भी की है.

इस पूरे मामले में जिला प्रशासन की तरफ से अब तक कोई ठोस पहल नहीं किया गया है. इस कारण पीड़ित परिवार परेशान है. जिला प्रशासन इस पूरे मसले पर कुछ भी कहने से बच रहा है. वहीं, पीड़िता के मुताबिक, वह पहले सरना धर्म मानती थी, लेकिन अब इन्होंने धर्म परिवर्तन कर लिया है. इसके बाद गांव के कुछ दबंगों ने गांव में पानी और सरकारी दुकान से मिलने वाले अनाज तक पर पाबंदी लगा दी है.

ज्ञात हो कि यह अतिपिछड़ा और आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है. यहां लोग मजदूरी और खेती कर अपना जीवन चलाते हैं. ऐसे में लोगों के द्वारा पांच परिवारों का हुक्का-पानी बंद कर दिया गया है. इससे वह काफी संकट से जूझ रहे हैं. वहीं, ग्रामीणों की बात मानें तो पहले लोग सरना धर्म मानते थे लेकिन अब ये दूसरे धर्म को मानने लगे हैं. ऐसे लोगों को सुधरने के लिए यह किया गया है, ताकि लोग पुनः अपने धर्म को मानें.

गांव में यह इतनी बड़ी समस्या बन गई है कि किसी भी वक्त बड़ी घटना घट सकती है. ऐसे में जिला के डीसी कुछ भी कहने से बच रहे हैं. वहीं, इस मसले पर लातेहार एसडीपीओ वीरेंद्र राम ने कहा जल्द की मामले को सुलझा लिया जाएगा.