पप्पू यादव ने मिलाई पीके के बयान पर हां में हां, बिहार में तीसरे मोर्चे को लेकर भी दिेए संकेत

जाप प्रमुख पप्पू यादव ने कहा कि बिहार में चमकी बुखार और मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के वक्त यह लोग कहां थे. उन्होंने नीतीश सरकार को सृजन घोटाला, जल जमाव सहित अन्य कई मुद्दों पर घेरा. उन्होंने कहा कि ये कैसा नेतृत्वकर्ता है जो अहम मसलों के वक्त गायब रहता है.

पप्पू यादव ने मिलाई पीके के बयान पर हां में हां, बिहार में तीसरे मोर्चे को लेकर भी दिेए संकेत
जाप प्रमुख पप्पू यादव ने पीके के बयान पर हां में हां मिलाया और बिहार में तीसरे मोर्चे को लेकर दिए संकेत.

पटना: बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले सभी दल और दल प्रमुख समीकरणों को अपने पक्ष में करने में जुटे हुए हैं. तमाम सुर्खियों से दूर जाप (जन अधिकार पार्टी) प्रमुख पप्पू यादव ने भी मोर्चा संभाला है. जाप नेता पप्पू यादव ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निशाने पर लिया है. यहीं नहीं तेजस्वी यादव का नाम लिए बगैर पप्पू यादव ने उन्हें भी आड़े हाथों लिया. 

जाप प्रमुख पप्पू यादव ने कहा कि बिहार में चमकी बुखार और मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के वक्त यह लोग कहां थे. उन्होंने नीतीश सरकार को सृजन घोटाला, जल जमाव सहित अन्य कई मुद्दों पर घेरा. उन्होंने कहा कि ये कैसा नेतृत्वकर्ता है जो अहम मसलों के वक्त गायब रहता है. 

कहते हैं कि दुश्मन का दुश्मन दोस्त होता है. पप्पू यादव ने भी वहीं नीति अपनाई. उन्होंने प्रशांत किशोर के बयान से इत्तेफाक रखते हुए कहा कि उन्होंने जो भी कहा वह बात सौ फीसदी सही है. बल्कि उन्होंने कम ही कहा. बिहार और ज्यादा पिछड़ा है. 

आरजेडी से बागी हो कर अपनी नई राह चुनने वाले पप्पू यादव ने कहा कि हमें लालू प्रसाद यादव से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन आरजेडी के गंभीर नेता जीतनराम मांझी और आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा एक बैनर तले आ कर नीति बनाते हैं तो वह उन्हें खुलकर सहयोग करेंगे. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या पप्पू यादव तीसरा मोर्चा खोलने का संकेत दे रहे हैं ? 

दरअसल, पप्पू यादव यह कहना चाहते थे कि महागठबंधन के अन्य घटक दल अगर आरजेडी का साथ छोड़कर अलग गुट बनाते हैं तो ऐसे में पप्पू यादव उनसे हाथ मिला सकते हैं. बिहार में इसी वर्ष के अंतिम महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाला है. ऐसे में तीसरे मोर्चे को लेकर तमाम दल और राजनेता सजग दिख रहे हैं लेकिन उसके भविष्य और आपसी सामंजस्य के चलते यह बात बीच से ही कहीं धुआं हो जा रही है.