close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: जलजमाव पर HC ने लताड़ा, कहा- 'राज्य सरकार कान में तेल डालकर सोई हुई है'

इस मामले पर दायर जनहित याचिकाओं पर जस्टिस एस पांडेय की खंडपीठ ने एक साथ सुनवाई की. कोर्ट ने राज्य सरकार को जलजमाव पर जवाबतलब करते हुए बताने को कहा कि कब तक सभी क्षेत्रों से जल जमाव हटा दिया जाएगा. 

बिहार: जलजमाव पर HC ने लताड़ा, कहा- 'राज्य सरकार कान में तेल डालकर सोई हुई है'
इस मामले पर दायर जनहित याचिकाओं पर जस्टिस एस पांडेय की खंडपीठ ने एक साथ सुनवाई की.

पटना: राजधानी पटना में इस वर्ष विनाशकारी आसमान से बरसी आफत की बारिश ने पूरा पटना को पानी पानी कर दिया. इसकी वजह जलजमाव की हालत पैदा हो गया और इससे पटना में महामारी फैलने लगी डेंगू चिकनगुनिया जैसे बीमारी पनपने लगी करोड़ो रुपए के समान लोगो के बर्बाद हो गए. कई लोगों की डेंगू से जान चली गई जिसे लेकर पटना हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने पटना हाईकोर्ट में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, प्रमंडल आयुक्त समेत कई लोगो के खिलाफ याचिका दायर की.

वहीं, इस मामले पर दायर जनहित याचिकाओं पर जस्टिस एस पांडेय की खंडपीठ ने एक साथ सुनवाई की. कोर्ट ने राज्य सरकार को जलजमाव पर जवाबतलब करते हुए बताने को कहा कि कब तक सभी क्षेत्रों से जल जमाव हटा दिया जाएगा. कोर्ट ने राज्य सरकार व पटना नगर निगम को आ रहे त्योहारों के लिए सफाई व्यवस्था की ठोस कदम उठाने का निर्देश दिया.

इसके साथ ही पटना में तेजी से फैल रहे डेंगू को रोकने के लिए प्रभावी कार्रवाई करने का भी निर्देश देते हुए  25 अक्टूबर को अगली सुनवाई का तिथि तय की है. वहीं, सरकार के पक्ष के महाधिवक्ता ललित किशोर ने बताया कोर्ट ने पटना में हुए नालों पर अतिक्रमण और आवासीय जगहों पर व्यवसायिक प्रतिष्ठान को हटाए जाने और उस पर करवाई भी की जाने के साथ ही सरकार को निर्देश दिया है की तीन सप्ताह के अंदर पूरी रिपोर्ट कोर्ट को सौंपे. 

वहीं, याचिकाकर्ता एसएन पाठक ने बताया की पटना में हुए जलजमाव को लेकर हाईकोर्ट ने सरकार को जमकर फटकार लगाई और कहा कि म्युनिस्पल कॉरपोरेशन और स्टेट गवर्नमेंट कान में तेल डालकर सोई हुई है. पटना में 10 दिनों से अधिक जलजमाव का दंश झेल रहे है और सरकार कान में तेल डालकर सोइ हुई है. कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा की पहले सरकार यह बताए शहर में कितने नाले हैं,  कितने संप हाउस है, और उसकी स्थिति क्या है?