महावीर मंदिर न्यास अयोध्या में शुरू करेगा राम रसोई, 1 हजार राम भक्तों को फ्री खाना

 किशोर कुणाल ने कहा कि अयोध्या में राम रसोई शुरु होने जा रही है. यहां शुरुआती दौर में प्रतिदिन एक हजार लोग भोजन करेंगे. इसके बाद में भक्तों की बढ़ती संख्या के आधार पर ज्यादा से ज्यादा लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी.

महावीर मंदिर न्यास अयोध्या में शुरू करेगा राम रसोई, 1 हजार राम भक्तों को फ्री खाना
महावीर मंदिर न्यास अयोध्या में शुरू करेगा राम रसोई.

पटना: पटना महावीर मंदिर न्यास की ओर से अयोध्या में राम रसोई की शुरुआत होने जा रही है. 23 नवंबर को इसकी शुरुआत होगी. महावीर मंदिर न्यास के कर्ताधर्ता आचार्य किशोर कुणाल इस मुहीम के शुरुआत के लिए 19 नवंबर को अयोध्या रवाना हो रहे हैं.

 किशोर कुणाल ने कहा कि बिहार में पहले से ही सीतामढी में सीता रसोई चल रही है. यहां दिन में 500 लोग और रात में 200 लोगों को मुफ्त में भोजन कराया जाता है. इसी क्रम में अयोध्या (Ayodhya) में राम रसोई शुरु होने जा रही है. यहां शुरुआती दौर में प्रतिदिन एक हजार लोग भोजन करेंगे. इसके बाद में राम भक्तों की बढ़ती संख्या के आधार पर ज्यादा से ज्यादा लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी.

उन्होंने कहा कि  राम रसोई के लिए तिरुपति के कारीगर रखे जाएंगे. चूंकि पटना के महावीर मंदिर में तिरुपति के ही कारीगर प्रसाद के रुप में चढाया जाने वाले लड्डू बनाते हैं और उसकी हर ओर प्रशंसा होती है. इसलिए तिरुपति के कारीगरों को वहां नियुक्त किया जाएगा.

इसके साथ ही दो कारीगर बिहार के भी रहेंगे. राम भक्तों को खाने में चावल, दाल, सब्जी और पापड दिया जाएगा. इसके लिए खाने में बिहारी टेस्ट आए इसके लिए तिलौडी और बचका देने की भी तैयारी है. राम रसोई की शुरुआत भव्य तरीके से हो इसलिए भभुआ से विशेष खुशबूवाले चावल अयोध्या भेजा जा रहे हैं.
 
किशोर कुणाल ने कहा है कि महावीर मंदिर की ओर से अयोध्या राम मंदिर के लिए सबसे पहले 10 करोड की राशी दी गई है और आगे जरुरत पडने पर दी जाएगी.  उन्होंने राम मंदिर ट्रस्ट से जुडने वाले लोगों से ये अपील भी की है कि रामलला ने काफी दिनों तक तिरपाल में अपना समय बिताया है. ऐसे में वक्त आ गया है कि रामनवमी (Ramnavami) से पहले रामलला के लिए सोने का गर्भगृह निर्माण करा उसमें उन्हें विराजमान किया जाए.