पटना: छात्र संघ चुनाव में आमने-सामने हुई BJP-JDU, प्रशांत किशोर आए निशाने पर

पटना विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव को लेकर बीजेपी और जेडीयू के नेता आमने-सामने हो गए हैं. बीजेपी के नेताओं ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

पटना: छात्र संघ चुनाव में आमने-सामने हुई BJP-JDU, प्रशांत किशोर आए निशाने पर
बीजेपी के नेताओं ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार के पटना विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव को लेकर बीजेपी और जेडीयू के नेता आमने-सामने हो गए हैं. बीजेपी के नेताओं ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. चुनाव प्रचार के दौरान छात्र जेडीयू और एबीवीपी के छात्रों के बीच झड़प हो गई है. झड़प के बाद पुलिस के रवैये को लेकर बीजेपी सवाल उठा रही है. 

पुलिस द्वारा एबीवीपी के कार्यालय पर छापेमारी किए जाने के बाद एबीवीपी के नेता और बीजेपी के सीनियर नेता नाराज हो गए हैं. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि छात्र जेडीयू धन-बल का प्रयोग कर रही है. इस मामले पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधायक अरुण कुमार सिन्हा ने बयान दिया है. 

 प्रशांत किशोर

उन्होंने कहा है कि पटना छात्र संघ चुनाव में जो भी हो रहा है वो दुखद है. एबीवीपी एक ऐसा छात्र संगठन है जिसकी मिसाल अन्य छात्रों को दिया जाता है. एबीवीपी की ओर से दो दर्ज केस दर्ज हुए. उनके उम्मीदवारों की बेइज्जती की गई. छात्र जेडीयू की तरफ से एक एफआईआर किया गया. इस ओर से दो केस के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई और उधर के एफआईआर पर कार्रवाई की गई. 

उनका कहना है कि एबीवीपी के छात्रों को परेशान किया जा रहा है. 40 सालों में पहली बार एबीवीपी के कार्यालय पर छापेमारी की गई. आपको बता दें कि 5 दिसंबर को पटना यूनिवर्सिटी में वोटिंग होगी और सेंट्रल पैनल के 28 पदों पर वोटिंग होगी. छात्र संघ चुनाव इस बार काफी अहम है यह इससे भी प्रतीत होता है कि इसके लिए बड़े नेता भी रणनीति बनाने में लगे हैं. छात्र संघ चुनाव को लेकर जेडीयू की ओर से भी काफी अहमीयत दी जा रही है.

  इस बार 20 हजार 368 मतदाता हैं, जो बिहार के विभिन्न जिलों से अपना संबंध रखते हैं. कुछ महीनों बाद देश के साथ बिहार में लोकसभा चुनाव भी होंगे. लिहाजा जो संगठन इस चुनाव को जीतेगा वो एक हद तक युवाओं में ये संदेश देने में सफल होगा कि छात्रों की पहली पसंद कौन सा संगठन या पार्टी है.