close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना जू ने स्थापित किया नया कीर्तिमान, एक सींग वाले गैंडे का कराया सफल प्रजनन

बिहार की राजधानी पटना स्थित संजय गांधी जैविक उद्यान (Patna Zoo) ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है. पूरी दुनिया में एक सींग वाले गैंडे (Hippopotamus) के सफल प्रजनन के मामले में कैलिफोर्निया के एक चिड़ियाघर के बाद बिहार का यह जू दूसरे स्थान पर खड़ा हो गया है. वहीं, देश का पहला ऐसा चिड़ियाघर है. गेंडा दिवस पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि दो सींग वाले गैंडे के साथ कई और जिव-जंतु जल्द ही यहां लाए जाएंगे.

पटना जू ने स्थापित किया नया कीर्तिमान, एक सींग वाले गैंडे का कराया सफल प्रजनन
दुनिया गेंडा दिवस मना रही है.

पटना : बिहार की राजधानी पटना स्थित संजय गांधी जैविक उद्यान (Patna Zoo) ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है. पूरी दुनिया में एक सींग वाले गैंडे (Hippopotamus) के सफल प्रजनन के मामले में कैलिफोर्निया के एक चिड़ियाघर के बाद बिहार का यह जू दूसरे स्थान पर खड़ा हो गया है. वहीं, देश का पहला ऐसा चिड़ियाघर है. गेंडा दिवस पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि दो सींग वाले गैंडे के साथ कई और जिव-जंतु जल्द ही यहां लाए जाएंगे.

दुनिया गेंडा दिवस मना रही है. संजय गांधी उद्यान एक सींग बाले गैंडे के सफल प्रजनन करवाने का गौरव हासिल किया है. इस चिड़ियाघर में 1979 में गेंडा लाया गया था और 1982 में प्रजनन की शुरुआत हुई. गैंडों के प्रजनन को लेकर चिड़ियाघर प्रशासन पहले से ही प्रयास कर रहा था. आशातीत सफलता मिलने के बाद प्रबंधन ने अब प्रयासों को और तेज कर दिया है.

पटना चिड़ियाघर के पास अभी 11 गैंडे हैं. गेंडा प्रजनन केंद्र बनकर तैयार है, जिसमें गेंडा को छोड़ा जायेगा ताकि प्रकृति अधिवास में प्रजनन कर सके. जल्द ही नए डेनमार्क से दो सींग वाला गेंडा मिलने की संभावना है. पटना जू को एक मादा और एक नर दिया जाएगा. इसके बदले पटना जू एक सींग वाला एक नर और एक मादा गेंडा देगी.

अमेरिका का सेंट डियागो चिड़ियाघर 14 गैंडों के साथ पहले स्थान पर है. आंकड़ों के अनुसार, पूरे देश के चिड़ियाघरों में गैंडों की कुल संख्या 33 के करीब है, जिसमे पटना में ही  11 गैंडे हैं.

सुशील मोदी ने पर्यावरण को बचाने और जल जीवन हरयाली अभियान को लेकर भी जागरूक होने की बात कही. उन्होंने कहा कि एकबार उपयोग में आने वाले प्लास्टिक को इस्तमाल नहीं करने और धीरे-घीरे खत्म करने के लिए भी लोगों से अपील की. उन्होंने कहा कि जागरुकता लाने के बाद बिहार में बैन कर दिया जायेगा.