close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राबड़ी देवी नहीं बल्कि लालू के सुरक्षा में लगे कंटेजेंट को हटाया गया- एसके सिंघल

 राबड़ी देवी के सरकारी आवास 10 सर्कुलर रोड से सुरक्षाकर्मी को हटाये जाने पर बिहार के एडीजी (हेडक्वाटर) एसके सिंघल ने इस गरमाते मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए बुधवार (11 अप्रैल) को प्रेस कॉफ्रेंस कर मामले को साफ करने की कोशिश की है.

राबड़ी देवी नहीं बल्कि लालू के सुरक्षा में लगे कंटेजेंट को हटाया गया- एसके सिंघल
एडीजी (हेडक्वाटर) एसके सिंघल ने प्रेस कॉफ्रेंस कर साफ किया सुरक्षाकर्मी हटाने का मामला.

पटनाः राबड़ी देवी के सरकारी आवास 10 सर्कुलर रोड से सुरक्षाकर्मी को हटाये जाने पर बिहार में सियासत तेज हो गई है. आरजेडी के नेता और कार्यकर्ताओं में इस कार्रवाई के प्रति काफी नाराजगी है. मंगलवार (10 अप्रैल) की रात को राबड़ी देवी के आवास से सुरक्षाकर्मियों को अचानक वापस बुलाने के बाद से आरजेडी नेता लगातार सरकार पर निशाना साध रहा है. वहीं, इसे सरकार की ईर्ष्या की राजनीति बतायी जा रही है. हालांकि इस मामले में जेडीयू नेताओं का भी कहना है कि यह केवल कानूनी प्रक्रिया है इसमें किसी तरह की राजनीति नहीं है. आरजेडी बेवजह ही इस मुद्दे को सियासी हवा दे रही है. हालांकि इस मामले में बिहार के एडीजी (हेडक्वाटर) एसके सिंघल ने इस गरमाते मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए बुधवार (11 अप्रैल) को प्रेस कॉफ्रेंस कर मामले को साफ करने की कोशिश की है.

एडीजी एसके सिंघल ने  कहा कि यह संवेदनशील मामला है इसमें कुछ संवाद की कमी रही है. हम बात कर स्थिती का हल निकालेंगे. साथ ही इसके लिए जिस स्तर पर वार्ता की जरुरत होगी हम करेंगे. उन्होंने कहा कि पुलिस ने जो सुरक्षाकर्मियों को हटाया है वह आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के सुरक्षा में लगा एक कंपोनेंट था. गौरतलब है कि आरजेडी राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता है. और उनका इलाज दिल्ली के एम्स अस्पताल में चल रहा है.

VIDEO: चोरी के आरोपी युवक पर पंचायत का तालिबानी फरमान

एडीजी (हेडक्वाटर) एसके सिंघल ने सुरक्षाकर्मियों को हटाने के मामले को साफ करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी की सुरक्षा के लिए अंगरक्षक, हाउस गार्ड, पायलट और स्कॉट समेत कुल 27 सुरक्षाकर्मियों को लगाया गया है. वहीं, पूर्व मंत्री और विधायक तेज प्रताप यादव के पास 3 अंगरक्षक दिये गए हैं. और वर्तमान में स्कॉट समेत उनके पास 10 सुरक्षाकर्मी हैं.

बिहार : श्रेयसी सिंह की जीत पर राज्यपाल और सीएम नीतीश ने जताई खुशी

एसके सिंघल ने कहा कि लालू प्रसाद यादव के साथ कानूनी विवसता है इसलिए सुरक्षा बल का एक कंपोनेंट वापस लिया गया है. उनके आवास से बिहार मिलिट्री पुलिस के 3 हवलदार और 12 सिपाहियों का कंटेजेंट हटाया गया है. गणमान्य लोगों की सुरक्षा पर उन्होंने कहा कि बिहार में गणमान्य लोगों के सुरक्षा के प्रति किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती गई है. खतरों के आयाम की तुलना में अधिक संख्या में सुरक्षाकर्मियों को लगाया गया है.