Bihar: नीतीश की नहीं रही JDU! अध्यक्ष पद को लेकर दो खेमों में बंटी पार्टी

जेडीयू पदाधिकारियों की बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो संकेत दिए, उसके बाद बदलाव की अटकलों को और हवा मिल गई है. 

Bihar: नीतीश की नहीं रही JDU!  अध्यक्ष पद को लेकर दो खेमों में बंटी पार्टी
Bihar: नीतीश की नहीं रही JDU! (फाइल फोटो)

Patna: JDU में क्या कुछ बड़ा होने वाला है? बिहार की राजनीति में ये सवाल हर किसी के दिमाग में चल रहा है. रविवार को हुई जेडीयू पदाधिकारियों की बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो संकेत दिए, उसके बाद बदलाव की अटकलों को और हवा मिल गई है. दरअसल, बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि उपेंद्र कुशवाह को जेडीयू का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जा सकता है. 

उधर, पार्टी अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह भी 'एक व्यक्ति, एक पद' के सिद्धांत पर चलने की बात कहकर सीएम के वक्तवयों पर मुहर लगा दी. आरसीपी सिंह ने कहा कि अगर पार्टी चाहेगी, तो राष्ट्रीय अध्यक्ष किसी और को बना दूंगा. जेडीयू में अध्यक्ष बदलने के संकेत के बाद राजनीति भी चरम पर है.

'दो खेमों में बंटी जनता दल यूनाइटेड'

आरजेडी का मानना है कि उपेंद्र कुशवाह को लाया ही इसलिए गया था. जेडीयू कार्यकारिणी की बैठक के बाद पार्टी में गुटबाजी भी दिखने लगी है. पार्टी के आधे लोग नीतीश खेमे में तो आधे लोग आरसीपी सिंह के खेमे में नजर आ रहे हैं. आरजेडी के मुताबिक पार्टी का भविष्य नहीं है.

नीतीश की नहीं रही जेडीयू

कांग्रेस के मुताबिक, जेडीयू को नीतीश ने सींचा था, लेकिन जेडीयू अब इनकी नहीं रही. कभी अधिकारी को पार्टी अध्यक्ष बनाया जा रहा है, तो कभी दूसरी पार्टी से आए शख्स को जिम्मेदारी सौंपे जाने की बात की जा रही है.

'पार्टी परिवार की प्राइवेट लिमिटेड नहीं'

जेडीयू ने विपक्षियों के हमले का जवाब बड़ी शालीनता के साथ दिया है. जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि उनकी पार्टी परिवार की प्राइवेट लिमिटेड नहीं है.पार्टी इन नॉमिनेशन पर चलती है. एक संगठनात्मक ढांचा है, जो लोकतांत्रिक है. बिहार में सामाजिक बदलाव की पटकथा जेडीयू ने लिखी है, जो लोकतांत्रिक तरीके से रखी गई है. जो भी निर्णय होता है, वो संगठन से होता है. जेडीयू के ही माधव आनंद ने भी नीरज कुमार की बातों को आगे बढ़ाते हुए साफ कर दिया की पार्टी नेतृत्व जो फैसला लेगा उसे सब स्वीकार करेंगे.

जेडीयू का अंदरुनी मामला-बीजेपी

उधर जेडीयू की सहयोगी पार्टी बीजेपी ने इसे जेडीयू का अंदरुनी मामला बताया है. बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने बताया कि जेडीयू में बदलाव से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में NDA गठबंधन बाखूबी काम कर रहा है.

 

'