बिहार में कांग्रेस पार्टी में जान फूंकने को तैयार आलाकमान! नई रणनीति को लेकर हो सकती है चर्चा

 बिहार कांग्रेस संगठन में बड़े फेरबदल की तैयारी चल रही है. प्रभारी चरण दास खुद इस फेरबदल की तैयारी में लगे हुए हैं.

बिहार में कांग्रेस पार्टी में जान फूंकने को तैयार आलाकमान! नई रणनीति को लेकर हो सकती है चर्चा
बिहार में कांग्रेस पार्टी में जान फूंकने को तैयार आलाकमान (फाइल फोटो)

Patna: बिहार कांग्रेस संगठन में बड़े फेरबदल की तैयारी चल रही है. प्रभारी चरण दास खुद इस फेरबदल की तैयारी में लगे हुए हैं. चरण दास के निर्देश पर पार्टी के नेता दिल्ली आलाकमान के पास बात करने जाएंगे.  

बिहार कांग्रेस प्रभारी चाहते हैं बदलाव

बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास संगठन में बदलाव की तैयारी में जुट गये हैं. अपने दो दिनों के बिहार दौरे के दौरान चरण दास ने पार्टी के बड़े नेताओं से  आलाकमान के मुलाकात की बात भी कही है. लेकिन ये मुलाकात किस संदर्भ में होगी, इस संदर्भ में चरण दास खुलकर कुछ नहीं बता सके थे. 

ये भी पढ़ें- Bihar: सीवान के भरे बाजार में बम विस्फोट, पिता-पुत्र गंभीर रूप से घायल

'संगठन में बदलाव जरुरी'

कांग्रेस नेता हरखू झा ने कहा है कि हमारे विधायक एकजुट हैं, लेकिन संगठन में फेरबदल की जरूरत है. लोकसभा विधानसभा चुनाव में हुई गड़बड़ी को बिहार के कांग्रेसी भूल नही पाए हैं. प्रभारी ने बिहार भ्रमण कर खुद स्थितीयों का आंकलन किया है. पार्टी की बेहतरी के लिए संगठन में बदलाव जरूरी है.
दरअसल प्रभारी के निर्देश पर पार्टी के सीनियर लीडर और सभी विधायक दिल्ली में आलाकमान के पास परेड करेंगे. विधायकों की एकजुटता दिखाने के अलावा संगठन में भारी फेरबदल की कवायद को अंजाम देने की भी तैयारी है.  

'अच्छे चेहरे के साथ कांग्रेस बिहार में उभरेगी'

कांग्रेस कार्यकारी के अध्यक्ष समीर सिंह ने कहा है कि हमारी मुलाकात आलाकमान से होगी. कोरोना के कारण राहुल गांधी जन-सेवा में व्यस्त हैं, लेकिन समय मिलते ही हम लोगों की भी मुलाकात होगी. हमलोग संघर्ष कर रहे है, लेकिन बहुत सारे मामलों में हम आभावग्रस्त भी हैं. हमे पार्टी को भी आगे बढ़ाना है.  

उन्होंने आगे कहा कि जो कमी बीते विधानसभा लोकसभा चुनाव में ऊजागर हुई थी, उसे दूर करना है. आनेवाले समय में संगठन को लेकर आलाकमान कोई ठोस फैसला करेगा. हमे उम्मीद है कि बिहार कांग्रेस एक नए चहेरे के साथ आगे आएगी. 

'अध्यक्ष बदलने से ज्यादा जरुरी रणनीति बदलना'

वर्तमान अध्यक्ष मदन मोहन झा का कार्यकाल पूरा हो रहा है. ऐसे में प्रभारी चरण दास चाहते हैं कि वो अपने मन मिजाज वाले नेता को अध्यक्ष बनाएं. हलांकि कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादिरी की मानें, तो अध्यक्ष बदलना कोई समस्या का समाधान नहीं हो सकता है. संगठन में बदलाव से ज्यादा पार्टी की रणनीति में बदलाव जरूरी है.