केसी त्यागी का बड़ा बयान, 'अर्जित के पास दो रास्ते हैं सरेंडर करें या गिरफ्तारी दें'

जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने इस मामले बड़ा बयान देते हुए कहा है कि अर्जित शाश्वत को सरेंडर करना चाहिए या फिर उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए

केसी त्यागी का बड़ा बयान, 'अर्जित के पास दो रास्ते हैं सरेंडर करें या गिरफ्तारी दें'
अर्जित शाश्वत की गिरफ्तार पर केसी त्यागी ने कहा सरेंडर करना चाहिए.
Play

पटनाः केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत की गिरफ्तार को लेकर विधानमंडल के अंदर और बाहर जोरदार हंगामा चल रहा है. वहीं विपक्ष सरकार पर आरोप भी लगा रही है. अर्जित की गिरफ्तारी नहीं होने पर सरकार के कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए जा रहे हैं. विपक्ष लगातार केंद्रीय मंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री पर निशाना साध रहा है. वहीं बड़ी खबर यह है कि जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने इस मामले बड़ा बयान देते हुए कहा है कि अर्जित शाश्वत को सरेंडर करना चाहिए या फिर गिरफ्तारी देनी चाहिए. केसी त्यागी ने अर्जित शाश्वत की गिरफ्तारी को लेकर कहा कि अगर एफआईआर दर्ज हुआ है तो हमें अपने अधिकारियों पर विश्वास करना चाहिए या अदालत ने वारंट जारी किए हैं तो अदालत का सम्मान करना चाहिए. दो रास्ते हैं, अर्जित कोर्ट में सरेंडर कर दें या फिर वह गिरफ्तारी दें.

बिहार विधानमंडल के बजट सत्र में काम कम हंगामा ज्यादा

उन्होंने कहा कि अगर कानून का मखौल उड़ेगा तो जेडीयू, बीजेपी, आरएलएसपी और एलजेपी पर खरोंच आएगी. इससे पूरा गंठबंधन प्रभावित होगा. उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री ऐसी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं जिससे मुख्य विपक्षी दल को इसका फायदा हो रहा है. साथ ही कहा एफआईआर को रद्दी का टुकड़ा कहना ये मान्यता प्राप्त संवैधानिक संस्थाओं का अपमान है. उन्होंने कहा कि हम बिहार में एनडीए को नयी ऊचाईयों पर लेकर जाना चाहते हैं. 2010 की तरह गठबंधन के एंजेंडे से अगर बाहर निकले तो यह गठबंधन के लिए अच्छा नहीं होगा.

रांची : लालू यादव को AIIMS ले जाने की मिली मंजूरी

गौरतलब है कि जिस तरीके से गिरिराज सिंह और अश्विनी चौबे ने बयानबाजी की है उसको लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी लगातार कहा था कि कुछ लोग हैं जो प्रदेश में माहौल को बिगाड़ने में लगे हैं. नेता विपक्ष को भी सलाह दी थी कि वह बयानबाजी से बचें. वहीं अरिजित के खिलाफ वारंट निकलने के बाद भी वह मीडिया से बात कर रहें हैं, फेसबुक लाइव कर रहे हैं और पटना में जुलूस निकाल रहे हैं. इस मुद्दे को विपक्ष ने मुद्दा बनाया था.