लालू यादव के गद्दारी वाले बयान पर JDU का पलटवार, नीरज कुमार बोले- जेल में सीखा सिर्फ अपभ्रंश

Bihar News: कोरोना महामारी को लेकर राजद सुप्रीमो लालू यादव ने ट्वीट कर केंद्र व राज्य सरकार पर हमला बोला है. इस बयान पर जदयू की ओर से नीरज कुमार ने पलटवार किया है.  

लालू यादव के गद्दारी वाले बयान पर JDU का पलटवार, नीरज कुमार बोले- जेल में सीखा सिर्फ अपभ्रंश
जदयू नेता नीरज कुमार ने लालू यादव के ट्विट पर दिया जवाब

Patna: बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले हर रोज बढ़ रहे हैं. संक्रमण से निपटने के लिए राज्य की नीतीश कुमार सरकार ने राज्य में 15 मई तक फिलहाल लॉकडाउन लगा दिया है. 
इस बीच राजद सुप्रीमो लालू यादव ने ट्वीट कर केंद्र व राज्य सरकार पर हमला बोला है. लालू यादव ने कहा,'सरकार की जनता के साथ गद्दारी कोविड से भी बड़ी महामारी है.'

राजद सुप्रीमो के इस बयान पर जदयू की तरफ से एमएलसी नीरज कुमार ने जवाब दिया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा,’  छूटते ही @laluprasadrjd ने ट्विटर थाम लिया है. गद्दारी शब्द न मन से सोचे और न जन की सोचे जेल में सीखा सिर्फ अपभ्रंश वेद-पुराण पढ़ते गुणियों की संगत करते या रमाते धुन घोटालों के गुरुजी हो गए राजनीति के घुन.’

गौरतलब है कि हाई कोर्ट द्वारा बिहार की राजधानी पटना के पीएमसीएच अस्पताल में हो रहे ऑक्सीजन गड़बड़ी की रिपोर्ट सामने आने के बाद बिहार सरकार पर विपक्ष हमलावर हो गया है.
लालू यादव से पहले पप्पू यादव ने पीएमसीएच मामले में सवाल उठाते हुए कहा कि पीएमसीएच में ऑक्सीजन ही नहीं रेमडेसिवीर दवा की भी कालाबाजारी हो रही है. 

ये भी पढ़ें- कोरोना संक्रमण के चलते विमान यात्रियों की संख्या हुई आधी, 10 विमान रद्द

विपक्ष के अलावा, भाजपा एमएलसी नवल किशोर यादव ने भी कहा है कि प्राइवेट अस्पताल व डॉक्टर का रवैया बेहद चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौर में भी आम लोगों से अस्पतालों में पैसे लूटे जा रहे हैं.

वहीं, सरकार ने अपने स्तर पर इस महामारी से निपटने के लिए कड़े व बड़े फैसले लेने शुरू कर दिए हैं. खुद सीएम नीतीश कुमार हालात पर नजर बनाए हुए हैं. मुख्यमंत्री ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए लोगों से अपील की है कि बहुत जरूरी हो तभी घर से निकलें.   

सरकार ने कहा है कि बिहार के किसी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी न हो इसके लिए प्रयास किया जा रहा है. जिला स्तर पर कोविड सेंटर बनाने के व आस-पास के ऑक्सीजन उत्पादन केंद्र से ऑक्सीजन की व्यवस्था करने का निर्देश अस्पतालों को दिया गया है.