close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अवैध संबंध का विरोध करने पर ट्रेन के सामने धक्का देकर पत्नी की ले ली जान

कथित अवैध संबंध का विरोध करने पर पति ने चलती ट्रेन के सामने धक्का देकर पत्नी की हत्या कर दी. घटना पटना सिटी के गुजलजारबाग रेलवे स्टेशन के पास मौजूद रेलवे ओवर ब्रिज के पास की है. 

अवैध संबंध का विरोध करने पर ट्रेन के सामने धक्का देकर पत्नी की ले ली जान
अवैध संबंध का विरोध करने पर गुस्साए पति ने कर दी पत्नी की हत्या. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना : पटना में दिल दहला देने वाली घटना का मामला सामने आया है. कथित अवैध संबंध का विरोध करने पर पति ने चलती ट्रेन के सामने धक्का देकर पत्नी की हत्या कर दी. घटना पटना सिटी के गुजलजारबाग रेलवे स्टेशन के पास मौजूद रेलवे ओवर ब्रिज के पास की है. 

अवैध संबंध का विरोध करने के कारण एक पति के ने अपनी पत्नी की निर्मम हत्या कर दी. आरोपी सुनील प्रसाद की पत्नी के उसके कथित अवैध संबंध का पता चल गया था, जिसका वो लगातार विरोध कर रही थी. इससे गुस्साए सुनील ने बहला-फुसलाकर उसे रेलवे ट्रैक के पास ले गया और सामने से आ रही ट्रेन के सामने धक्का दे दिया. इससे महिला की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.

घटना के बाद वहां पर मौजूद लोगों ने आरोपी सुनील को पकड़ लिया और उसकी पिटाई कर दी. बाद में उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया. जीआरपी ने महिला की पहचान 22 वर्षीय आशा देवी के रूप में किया है.

पढ़ें- PAK: 8 साल की बच्ची को बलात्कार के बाद जिंदा जलाया

बताया जाता है कि पटना सिटी के अगमकुआं थाना क्षेत्र के भागवत नगर के रहने वाले रमेश प्रसाद ने अपने बेटी आशा की शादी दिसंबर 2016 में खाजेकला थाना क्षेत्र के लोदीकटरा के रहने वाले सुनील प्रसाद से किया था. सुनील बिहटा में एयर फोर्स में सिविलियन के पद पर कार्यरत हैं. सुनिल का किसी लड़की से कथित अवैध संबंध होने के कारण शादी के कुछ ही दिन बाद वो अपनी पत्नी आशा को प्रताड़ित करने लगा.

पढ़ें- अवैध संबंध का किया विरोध तो मामी ने कर दी भांजी की हत्या

आशा ने इसकी शिकायत अपने परिजनों से की थी. इस बात को लेकर आशा के परिजनों ने कई बार अपने दामाद को समझाने की कोशिश की पर सुनील उस लड़की से बराबर मिलता रहा. पत्नी के मना करने पर उसके साथ अक्सर मारपीट करता था. वहीं, सुनील ने अपनी पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए षडयंत्र रचा और सुनियोजित ढंग से आशा को बहला-फुसला कर उसे ओवर ब्रिज के पास ले गया और ट्रेन के सामने धक्का दे दिया. जिससे उसकी मौत हो गई.

पढ़ें- नाबालिग बेटी से नहीं होने दी शादी तो दबंग प्रेमी ने पूरे परिवार को मार डाला

फिलहाल जीआरपी आरोपी सुनील को हिरासत में लेकर कानूनी प्रक्रिया में जुट गई है. आशा के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. वह सुनील को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए जीआरपी से मांग कर रहे हैं. आरोपी सुनील अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत ठहरा रहा है.