Munger: जिले में फिर पांव पसार रहा कोरोना, एक ही दिन में पाए गए 435 नए मरीज

Munger Corona News: जिले में गुरूवार को कोरोना संक्रमण के अबतक के एक वर्ष से अधिक समय के दौर में सबसे बड़ा मामला सामने आया है. जिसमें एक ही दिन में जिले में कोरोना के 435 नए मरीज पाए गए है. इसमें 296 पुरूष व 139 महिलाएं शामिल है.

Munger: जिले में फिर पांव पसार रहा कोरोना, एक ही दिन में पाए गए 435 नए मरीज
एक ही दिन में पाए गए 435 नए मरीज. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Munger: जिले में कोरोना संक्रमण ने फिर से अपना पैर पसारना शुरू कर दिया है. जिसके कारण बीते तीन दिनों से संक्रमण का स्तर काफी तेजी से बढ़ने लगा है. इसी क्रम में गुरूवार को जिले में 435 संक्रमित मरीज पाए गए हैं. जो जिले में 22 मार्च 2020 से आरंभ हुए संक्रमण के पहले दौर और इस वर्ष दोबारा मार्च माह से आरंभ हुए संक्रमण के दूसरे दौर में अबतक का सबसे बड़ा मामला है. 

वहीं, इस बीच बीते अप्रैल माह से जारी जिले में संक्रमण के कारण मौत का तांडव अबतक यथावत जारी है. गुरूवार को भी जिले में तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई. शहर के लल्लु पोखर निवासी एक 55 वर्षीय व्यक्ति और मधुबनी निवासी 53 वर्षीय महिला की मौत जीएनएम स्कूल आइसोलेशन वार्ड में हो गई. वहीं तारापुर के एक 79 वर्षीय सेवानिवृत शिक्षक की मौत पटना में इलाज के दौरान हो गई. इधर, जिले में संक्रमण के कारण मौत के तांडव के साथ बीते दिनों से संक्रमित मरीज मिलने का मामला भी काफी तेजी से बढ़ गया है. जिसके कारण बीते तीन दिन में 978 पॉजिटिव मरीज मिलने के कारण जिले में गुरूवार को संक्रमण का स्तर 1.13% तक बढ़ गया है. 

ये भी पढ़ें- कोरोना कहर के बीच बिहार की मदद करेगी सेना, पूर्वोत्तर से दो अस्पतालों के साजों-सामान को पटना भेजा

गुरूवार को पाए गए कोरोना के 435 नए मरीज
जिले में गुरूवार को कोरोना संक्रमण के अबतक के एक वर्ष से अधिक समय के दौर में सबसे बड़ा मामला सामने आया है. जिसमें एक ही दिन में जिले में कोरोना के 435 नए मरीज पाए गए है. इसमें 296 पुरूष व 139 महिलाएं शामिल है. जिसके कारण जिले में अब कुल संक्रमित मरीजों का आंकड़ा लगभग 10 हजार के पास पहुंच चुका है, जो 9,918 है. वहीं जिले में गुरूवार को भी सबसे अधिक पॉजिटिव मरीज पाए जाने के कारण कुल एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 2,242 हो चुकी है.

गुरूवार को जिले के हवेली खड़गपुर में 126, मुंगेर के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में 100, धरहरा में 46, बरियापुर में 36, संग्रामपुर में 33, तारापुर में 31, जमालपुर में 25, टेटियाबंबर में 10, असरगंज में 3 और बांका का 14, भागलपुर का 6, लखीसराय का 4 व रोहतास का 1 मरीज यहां जांच के बाद कोरोना पॉजिटिव पाया गया है.

तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की हुई मौत
जिले में एक ओर जहां संक्रमण का स्तर दोबारा तेजी से बढ़ने लगा है. वहीं बीते 18 अप्रैल से जिले में आरंभ हुए संक्रमण के कारण मौत का तांडव अबतक यथावत जारी है. जिसमें गुरूवार को भी तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है. इसमें शहर के लल्लु पोखर निवासी 55 वर्षीय चंद्रशेखर चौधरी की मौत जीएनएम स्कूल आइसोलेशन वार्ड में हो गई. कुछ दिन पूर्व कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनकी हालत को देखते हुए परिजनों द्वारा बीते बुधवार को जीएनएम में एडमिट कराया गया था. जहां गुरूवार की सुबह उनकी मौत हो गई. वहीं जीएनएम स्कूल आइसोलेशन वार्ड में ही मधुबनी जिले के मलमल निवासी 53 वर्षीय नुसरत सुल्ताना की मौत हो गई. कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उनका ऑक्सीजन लेवल 51 पहुंच गया था. जिसके कारण उन्हें गुरूवार की सुबह 8 बजे जीएनएम में भर्ती कराया गया. जहां दोपहर 12 बजे उनकी मौत हो गई. इधर, तारापुर के 79 वर्षीय सेवानिवृत शिक्षक संजय प्रसाद सिंह की मौत पटना में इलाज के दौरान हो गई. जो कुछ दिन पूर्व पॉजिटिव पाए गए थे. जिसके बाद परिजन उन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना ले गए थे.

ये भी पढ़ें- मंगल पांडेय ने बताया 24x7 हेल्पलाइन नंबर, कोरोना मरीज शिकायत व मदद के लिए इस नंबर पर करें कॉल

अबतक कुल 4,64,772 संदिग्धों की हो चुकी है कोविड-19 जांच
सिविल सर्जन डॉ हरेंद्र कुमार आलोक ने बताया कि 'जिले में संक्रमण के प्रथम और दूसरे दौर में अबतक कुल 4,64,772 संदिग्धों की कोविड-19 जांच की जा चुकी है. वहीं, सरकार के आदेशानुसार संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिले में प्रतिदिन जांच की संख्या को बढ़ा दिया गया है. जिसमें जिले के विभिन्न जांच केंद्रों पर प्रतिदिन 1 से 2 हजार संदिग्धों की कोविड-19 जांच की जा रही है. इसी क्रम में गुरूवार को जिले के विभिन्न जांच केंद्रों पर कुल 1,481 संदिग्धों की जांच की गई. जिसमें 826 संदिग्धों का जांच एंटीजेन टेस्ट कीट से की गई. जबकि 89 संदिग्धों का जांच ट्रूनेट मशीन में की गई. वहीं 586 संदिग्धों के सैंपल को जांच के लिए पटना के पीएमसीएच में भेजा गया है. जिसकी रिर्पोट आनी अभी बांकी है.' 

गुरूवार को 211 मरीज इलाज के बाद हुए ठीक
जिले में गुरूवार को कोरोना के 211 मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए. सिविल सर्जन डॉ हरेंद्र कुमार आलोक ने बताया कि 'जिले में गुरूवार को कोरोना के 211 मरीज इलाज के बाद ठीक हुए हैं. जिससे अबतक जिले में कुल 7,596 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. इधर जिले के विभिन्न आइसोलेशन वार्ड में गुरूवार को कोरोना के 17 गंभीर मरीजों को इलाज के लिए भर्ती किया गया है. जबकि अबतक कुल 45 मरीजों को इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर किया गया है. वहीं जिले के विभिन्न आइसोलेशन वार्ड में अबतक कुल 50 पॉजिटिव मरीज इलाजरत हैं.'

मात्र 72 घंटों में पाए गए 978 नए मरीज, 626 हुए ठीक
जिले में संक्रमण के घट रहे स्तर के बीच अब बीते तीन दिनों से जिले में संक्रमण ने दोबारा अपना पैर फैलाना शुरू कर दिया है. जिसके कारण जिले में मात्र तीन दिनों में संक्रमण का स्तर काफी तेजी से बढ़ गया है. बीते तीन दिनों में जहां जिले में कोरोना के 978 नए मरीज पाए गए हैं, जिसमें 667 पुरूष व 311 महिलाएं शामिल हैं. वहीं इस दौरान जिले में संक्रमण से 626 मरीज इलाज के बाद ठीक हुए हैं. जिसके कारण जिले में गुरूवार को संक्रमण का स्तर अचानक 1.13% तक बढ़ गया है. बता दें कि जिले में जहां बीते 4 मई तक संक्रमण का स्तर 78.65% था. वहीं 5 मई को यह आंकड़ा 0.7% बढ़कर 78.72 हो गया था. लेकिन गुरूवार को हुए कोरोना के विस्फोट ने इस आंकड़े को अचानक 1.13% बढ़ाकर 79.85% तक पहुंचा दिया है.

(इनपुट- प्रशांत)