पटना HC ने कोरोना महामारी पर जताई गंभीर चिंता, CS को शुक्रवार तक ब्यौरा देने का दिया निर्देश

Patna High Court: अदालत ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव Corona को नियंत्रित करने के लिए सरकार द्वारा की जा रही कार्रवाई का ब्यौरा कल तक न्यायालय में सौंपे.  

पटना HC ने कोरोना महामारी पर जताई गंभीर चिंता, CS को शुक्रवार तक ब्यौरा देने का दिया निर्देश
पटना HC ने कोरोना महामारी पर जताई गंभीर चिंता (प्रतीकात्मक फोटो)

Patna: बिहार में कोरोना संकट के बीच पटना हाईकोर्ट (Patna High Court) प्रतिदिन राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था और सरकार की तैयारियों को लेकर सुनवाई कर रही है. इसी क्रम में गुरुवार को पटना हाईकोर्ट ने बिहार में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों पर गंभीर चिंता जताई है.

चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए बिहार की नीतीश कुमार सरकार से शुक्रवार तक ब्यौरा देने को कहा है. अदालत ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव Corona को नियंत्रित करने के लिए सरकार द्वारा की जा रही कार्रवाई का ब्यौरा कल तक न्यायालय में सौंपे. साथ ही, कोर्ट ने राज्य के अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था दुरुस्त करने का सख्त निर्देश दिया है.

चीफ जस्टिस ने ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए केंद्र और राज्य सरकार को आपसी तालमेल से व्यवस्थित करने का निर्देश दिया है. साथ ही, राज्य में कोविड अस्पतालों की स्थिति, मरीजों की इलाज की व्यवस्था, दवाओं और ऑक्सीजन आपूर्ति के संबंध में पूरा ब्यौरा देने को कहा है. 

ये भी पढ़ें: लालू यादव की राजनीति में 'री-एंट्री'! RJD विधायकों से संवाद कर देंगे 'कोरोना मंत्र'

गौरतलब है कि पिछली सुनवाई के दौरान पटना हाईकोर्ट ने नीतीश कुमार सरकार को फटकार लगाते हुए कहा था कि अगर सरकार से राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था नहीं संभल रही है तो क्यों ना सेना को सौंप दिया जाए. हालांकि, सरकार की तरफ से अदालत को बताया गया था कि कोविड से बचाव और स्वास्थ्य सुविधाओं को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. इसी क्रम में बिहार में 5 से 15 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है.