Pirates of the Bihar: अवैध बालू खनन पर CM नीतीश बोले-जांच में नहीं होगी ढील, दोषियों पर करेंगे सख्त कार्रवाई

सीएम ने कहा, 'इसके लिए पूरी कार्रवाई हो रही है. जांच करने के बाद सरकारी अफसरों की भूमिका अगर मिलती है तो उन पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी.' उन्होंने कहा कि सरकार एक-एक चीज पर निगाह बनाए हुए है, दोषियों पर कड़ा एक्शन होगा.

Pirates of the Bihar: अवैध बालू खनन पर CM नीतीश बोले-जांच में नहीं होगी ढील, दोषियों पर करेंगे सख्त कार्रवाई
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है.
Play

Patna: बिहार में बालू के अवैध खनन को लेकर ज़ी बिहार-झारखंड ने जो पड़ताल की है अब उस खबर का असर हुआ है. इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संज्ञान लिया है. सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि अवैध बालू खनन की जांच की जा रही है और जो भी दोषी होगा, उस पर कार्रवाई होगी. सीएम ने कहा, 'इसके लिए पूरी कार्रवाई हो रही है. जांच करने के बाद सरकारी अफसरों की भूमिका अगर मिलती है तो उन पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी.' उन्होंने कहा कि सरकार एक-एक चीज पर निगाह बनाए हुए है, दोषियों पर कड़ा एक्शन होगा.

नहीं बचेंगे दोषी-खनन मंत्री
वहीं, खनन मंत्री जनक राम बोले-बालू माफियाओं पर कड़ी कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि हम बिहार के लोगों को भरोसा दिलाते हैं कि जो भी इस मामले में दोषी होगा वह बचेगा नहीं. मामला सामने आने के बाद से ही सरकार ने बड़े पैमाने पर त्वरित कार्रवाई करते हुए छापेमारी की है. मंत्री ने कहा कि भोजपुर, सासाराम, आरा, छपरा, बांका से सर्वाधिक राजस्व हासिल होता है. 2020-21 में 16 हजार करोड़ का टार्गेट किया गया था जो प्राप्त किया गया था. बिहार में अवैध बालू का कारोबार फलफुल रहा था. 

बिहार में धड़ल्ले से जारी है बालू खनन
जनक राम ने कहा कि गलत करने वालों को सरकार बख्शती नहीं है. अगर मेरे विभाग में अधिकारी या दूसरे विभाग के अधिकारी गलत काम करते हैं तो ससमय जांच कर हम कार्रवाई करते हैं. दरअसल, बिहार में अवैध बालू खनन (Illegal Sand mining) का खेल खुलेआम चल रहा है. खनन माफिया (Mining Mafia) सरकारी खजाने को रोजाना करोड़ों की चपत लगा रहे हैं. दिन-रात अवैध खनन होने के बावजूद कोई कड़ी कार्रवाई नहीं हो रही है. हाल के दिनों में कुछ अधिकारियों पर गाज भी गिरी लेकिन, सबकुछ जस का तस बना हुआ है. इस बीच, ज़ी बिहार-झारखंड की टीम ने खनन के कारोबार पर बड़ा खुलासा किया है. 

मीडिया की पड़ताल, जागी नीतीश सरकार!
इस खुलासे के तुरंत बाद बिहार सरकार के खनन मंत्री जनक राम ने बयान दिया है. मंत्री जनक राम ने स्वीकार किया है कि राज्य में धड़ल्ले से बालू माफिया अपना कारोबार कर रहे हैं. इस अवैध कारोबार में जो लोग भी शामिल हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. गौरतलब है कि अलग-अलग जिलों में की गई हमारी पड़ताल में यह सामने आया है कि अभी तक खनन माफिया बिना रोक-टोक सोन और गंगा जैसी नदियों से बालू निकालकर बेच रहे हैं.