बिहार में अवैध खनन माफियों पर चला 'प्रशासन का डंडा', दर्जनों नाव- ट्रैक्टर जब्त

Zee बिहार झारखंड के ऑपरेशन 'पायरेट्स ऑफ द बिहार' सफल होता दिख रहा है. प्रदेशभर में अवैध खनन माफिया के खिलाफ छापेमारी जारी है.

बिहार में अवैध खनन माफियों पर चला 'प्रशासन का डंडा', दर्जनों नाव- ट्रैक्टर जब्त
बिहार में अवैध खनन माफियों पर चला 'प्रशासन का डंडा' (फाइल फोटो)

Patna: Zee बिहार झारखंड के ऑपरेशन 'पायरेट्स ऑफ द बिहार' सफल होता दिख रहा है. प्रदेशभर में अवैध खनन माफिया के खिलाफ छापेमारी जारी है. इसके अलावा आरोपी अधिकारियों और कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की जा रही है. 

18 पुलिसवाले हुए सस्पेंड 

पटना में अवैध बालू खनन मामले में 14 दारोगा समेत 18 पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया है. विजिलेंस को जांच में इन अधिकारियों के खिलाफ सबूत मिले थे. जिसके बाद DGP ने बिना देर किए सबूतों के आधार पर सभी अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है. निलंबन के बाद अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी. गौरतलब है कि इससे पहले भी दो एसपी और 4 एसडीपीओ पर कार्रवाई की जा चुकी है.

दानापुर में नाव और ट्रैक्टर जब्त

दानापुर में भी Zee बिहार झारखंड के ऑपऱेशन 'पायरेट्स ऑफ द बिहार' का बड़ा असर देखा जा रहा है. पटना पुलिस और जिला खनन विभाग टीम बनाकर यहां लगातार छापेमारी कर रहा है. दोनों विभागों की संयुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए गंगा नदी से दर्जनों नावों को जब्त किया है. दोनों विभागों की टीम ने कई पोकलेन मशीनों को नदी में डूबाने के साथ तोड़फोड़ भी की. उधर, एसडीएम और डीएसपी के नेतृत्व में भी छापेमारी की गई. इसमें अवैध बालू खनन में लगे एक दर्जन से ज्यादा ट्रैक्टरों को जब्त किया.

अरवल तक 'ऑपरेशन' का असर

अरवल में भी 'Zee बिहार झारखंड के ऑपऱेशन पायरेट्स ऑफ द बिहार' के बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर है. यहां प्रशासन ने अवैध बालू माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है, जिससे अवैध बालू माफियाओं में हड़कंप मच गया है. दरअसल, मेहंदिया थाना पुलिस ने बेलसार और राज खरसा में कार्रवाई करते हुए 5 बालू माफिया को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही दो हाईवा और दो ट्रक भी प्रशासनिक टीम ने जब्त किए हैं. इसके अलावा पूर्व मुखिया मनोज शर्मा समेत 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

 

'