संकट के समय राहुल-लालू की बयानबाजी ऑक्सीजन की कालाबाजारी से ज्यादा खतरनाक: सुशील कुमार मोदी

Bihar Samachar: सांसद सुशील कुमार मोदी ने अपने टि्वटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा कि 'कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी.'

संकट के समय राहुल-लालू की बयानबाजी ऑक्सीजन की कालाबाजारी से ज्यादा खतरनाक: सुशील कुमार मोदी
राहुल-लालू की बयानबाजी ऑक्सीजन की कालाबाजारी से ज्यादा खतरनाक: सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

Patna: बिहार में कोरोना की लहर लगातार अपना कहर बरसा रही है. आए दिन सैकड़ों लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है. ऐसे समय में भी बिहार में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच वार-पलटवार का दौर जारी है. इसी क्रम पूर्व उपमुख्यमंत्री व सांसद सुशील कुमार मोदी ने अपने टि्वटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा कि 'कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी.'

'बिहटा में सेना ने 100 बेड वाला विशेष कोविड अस्पताल शुरू किया. राज्य के अस्पतालों में बड़े पैमाने पर डॉक्टरों-स्वास्थ्यकर्मियों की संविदा पर भर्ती की जा रही है. साथ ही दूसरे राज्यों से लौटे मजदूरों को यहां सभी योजनाओं में काम देकर उनके रोजगार की भी चिंता की जा रही है. दूसरी तरफ ऐसे संकट काल में राहुल गांधी और लालू प्रसाद नकारात्मक बयान देकर केवल कोरोना योद्धाओं का मनोबल गिरा रहे हैं. महामारी के समय ओछी राजनीति करना दवा- ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने से ज्यादा खतरनाक है.'

ये भी पढ़ें- बाढ़ व सुखाड़ से निपटने की पूरी तैयारी रखें: नीतीश कुमार

सुशील मोदी यहीं नहीं रुके, उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि 'बिहार की जनता ने जब लालू प्रसाद को 15  साल राज करने का मौका दिया था, तब उन्होंने मेडिकल कॉलेज एम्स, सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, ऑक्सीजन प्लांट या गांव में बिजली पहुंचाने जैसे काम करने के बजाय लाठी में तेल पिलावन रैली, गरीब रैला और समाज को तोड़ने वाले नारे गढने जैसे नकारात्मक कामों में समय गवाया. वे सत्ता में रहें या विपक्ष में, उनकी राजनीति हमेशा गिलास को भरने की नहीं, सिर्फ उसे खाली दिखाने की रही.'