'पायरेट्स ऑफ द बिहार' से अबतक मच रही खलबली, RJD ने सरकार की पॉलिसी को बताया जिम्मेदार

Bihar Samachar: आरजेडी विधायक राहुल तिवारी ने कहा कि अधिकारियों की दिलचस्पी अवैध बालू कारोबार में है, जो भी एसपी ऐसे इलाकों में जाते हैं, बालू उगाही के धंधे में जुट जाते हैं.

'पायरेट्स ऑफ द बिहार' से अबतक मच रही खलबली, RJD ने सरकार की पॉलिसी को बताया जिम्मेदार
'पायरेट्स ऑफ द बिहार' से अबतक मच रही खलबली.

Patna: ज़ी बिहार झारखंड के 'पायरेट्स ऑफ द बिहार' ऑपरेशन के बाद बिहार में बालू का अवैध खनन अचनाक भारी पड़ने लगा है. शासन एक्टिव हो गया है, प्रशासन एक्शन में आ गया है. उधर, विपक्ष को सरकार को घेरने का एक मौका मिल गया है.

'सरकार की पॉलिसी जिम्मेदार'
वहीं, आरजेडी (RJD) का मानना है कि अवैध खनन रुकने वाला नहीं है. आरजेडी ने इसके लिए सरकार की पॉलिसी को जिम्मेदार बताया है. आरजेडी विधायक राहुल तिवारी ने कहा कि अधिकारियों की दिलचस्पी अवैध बालू कारोबार में है, जो भी एसपी ऐसे इलाकों में जाते हैं, बालू उगाही के धंधे में जुट जाते हैं. राहुल तिवारी ने बताया कि बालू बंदोबस्ती को सेंट्रलाइज करने के कारण परेशानी हो रही है.

'दशकों से चला रहा खनन का खेल'
मामले में कांग्रेस भी सरकार पर निशाना साध रही है. कांग्रेस के मुताबिक, 'बिहार में दशकों से अवैध खनन का खेल चल रहा है. कई सरकारों में ये चला और चलता आ रहा है. कई बड़े लोग इस खेल में शामिल हैं.' कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह ने कहा कि उन्हें नहीं लगता की कोई मुख्यमंत्री इसे बंद करा सकता है.

ये भी पढ़ें- विधान मंडल तक पहुंची ऑपरेशन पाइरेट्स की गूंज! सदन में उठेगा अवैध बालू खनन का मुद्दा

'विपक्ष सबूत दें, मनसा पर सवाल ना करें'
इधर, मुद्दे पर जेडीयू ने मीडिया की तारीफ करते हुए कहा कि मीडिया से यही उम्मीद की जाती है कि वो सच को सामने लाए. ऐसे सच के आधार पर सरकार कार्रवाई भी करती है. जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार के मुताबिक, 'मीडिया उस कार्रवाई को भी जनता के सामने पेश करें, जो सरकार खबर दिखाने के बाद करती है.' उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि विपक्ष के पास अवैध बालू खनन को लेकर सबूत हैं तो दें, अगर नहीं है तो सरकार की मनसा पर सवाल ना खड़े करें.

नहीं बचेंगी बड़ी मछलियां
ऑपरेशन 'पायरेट्स ऑफ द बिहार' के प्रसारण के बाद बिहार सरकार के मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि सरकार के संज्ञान में जब-जब इस तरह के मामले आए हैं सरकार ने करवाई की है. साथ ही उन्होंने कहा कि कोई कितना भी बड़ा रसूखदार क्यों न हो इस मामले में बख्शा नहीं जाएगा. मुख्यमंत्री ने खुद इस बात की जानकारी दी है.

गौरतलब है कि बालू के अवैध खनन का मामला संजीदा और बड़ा है तो गूंज दिल्ली तलक है. आए दिन जगह-जगह छापेमारी भी की जा रही है. आरा में 14 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. छपरा में सिताबदियारा में छापा पड़ा है. छपरा के कष्णाचौक पर बालू लदे 6 ट्रक जब्त किए गए हैं. अरवल में अवैध खनन में शामिल कई गाड़ियां जब्त की गई हैं और बांका में छापेमारी कर दर्जनों माफियाओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.