जातीय जनगणना के मसले पर अड़े तेजस्वी, CM Nitish से करेंगे मुलाकात

Bihar Samachar: तेजस्वी ने कहा कि जातीय जनगणना का मसला उनकी पार्टी पहले से उठाती रही है. अगर केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है कि जातीय जनगणना नहीं कराई जाएगी तो इसके बावजूद राज्य सरकार अपने खर्च पर इसे करा सकती है.

जातीय जनगणना के मसले पर अड़े तेजस्वी, CM Nitish से करेंगे मुलाकात
जातीय जनगणना के मसले पर अड़े तेजस्वी. (फाइल फोटो)

Patna: जातीय जनगणना के मसले पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. तेजस्वी यादव ने अब इस मामले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से मुलाकात करने की घोषणा की है.

इसे लेकर तेजस्वी ने कहा कि जातीय जनगणना का मसला उनकी पार्टी पहले से उठाती रही है. अगर केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है कि जातीय जनगणना नहीं कराई जाएगी तो इसके बावजूद राज्य सरकार अपने खर्च पर इसे करा सकती है, कई राज्यों ने ऐसा अपने खर्च पर कराया है.

उन्होंने कहा, 'आज मैनें बिहार विधानसभा में कार्यस्थगन प्रस्ताव लाने का काम किया, लेकिन कार्य स्थगन अस्वीकृत कर दिया गया. सबलोग जानते हैं कि जातीय जनगणना को लेकर हमारी मांग हमेशा से रही है. इसपर विधानसभा में दो बार सर्वसहमति से पास किया गया है. जानवरों से लेकर हर धर्म के लोगों की गिनती होती है.'

ये भी पढ़ें- UP Assembly Election 2022: दिल्ली पहुंचे VIP चीफ मुकेश सहनी, NDA नेताओं से मिलने की संभावना

तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार NDA के हिस्सेदार हैं, वे कहते है कि बिहार में जातीय जनगणना होनी चाहिए, लेकिन केंद्र सरकार ने इसके लिए मना कर दिया है. उन्होंने कहा कि इस मामले में सदन में प्रस्ताव लाने से रोका जा रहा है ताकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए दुविधा ना बन जाए. 

तेजस्वी ने फिर दोहराते हुए कहा, 'आज बिहार विधानसभा में भी इस मसले पर कार्य स्थगन का प्रस्ताव दिया था. हालांकि, सदन में आज अन्य कार्यों के कारण इस पर चर्चा नहीं हो सकी. मेरा कार्य स्थगन अस्वीकृत कर दिया गया, लेकिन इसके बावजूद मैंने इस मसले को नहीं छोड़ा है. आज विपक्षी दलों के साथ बैठक करेंगे उसके बाद रणनीति बनाकर नीतीश कुमार से मुलाकात भी करेंगे.'