कांग्रेस MLC ने बिहार सरकार पर उठाए सवाल, कहा-वैक्सीन के लिए ग्लबोल टेंडर का सहारा क्यों नहीं

कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी वैक्सीन के ग्लोबल टेंडर की मांग उठाई है. इससे पहले तेजश्वी यादव और सुशील मोदी भी ये मांग कर चुके हैं.

कांग्रेस MLC ने बिहार सरकार पर उठाए सवाल, कहा-वैक्सीन के लिए ग्लबोल टेंडर का सहारा क्यों नहीं
बिहार में टीका के ग्लोबल टेंडर की बढ़ी मांग (फाइल फोटो)

Patna: कोरोना वैक्सीन की बढ़ती डिमांड और कम आपूर्ति को देखते हुए राज्य में वैक्सीन के ग्लोबल टेंडर की मांग उठने लगी है. कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी वैक्सीन के ग्लोबल टेंडर की मांग उठाई है. इससे पहले तेजश्वी यादव और सुशील मोदी भी ये मांग कर चुके हैं.

विधान परिषद के कांग्रेस सदस्य प्रेमचंद मिश्रा ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वो लोगों के लिए कोरोना टीका उपलब्ध कराने में विफल रहें हैं. ऐसे में अब उन्हें ग्लोबल टेंडर का सहारा लेना चाहिए. 

उन्होंने आगे कि देश के 11 राज्यों के मुख्यमंत्रीयों ने खुद के साधन से अपने अपने राज्यों के लिए टीका का इंतजाम करने हेतु ग्लोबल टेंडर का सहारा लिया है. लेकिन ये दुःख की बात है कि राज्य के मुख्यमंत्री इसके बाद भी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीके का इंतजाम नहीं कर पाए हैं. 12-13 करोड़ की आबादी वाले राज्य को सिर्फ कुछ लाख वैक्सीन दी है. इस पर भी मुख्यमंत्री हाथ-हाथ रखें बैठे हैं. 

ये भी पढ़ें- बिहार के शवों का UP में दाह संस्कार पर रोक, लोग बोले- हम भी गया में नहीं होने देंगे पिंडदान

इसके अलावा उन्होंने राज्य सरकार से सवाल करते हुए कहा कि सरकार बताए कि अभी तक फर्स्ट डोज कितने लोगों को लगा है और लोगों को दूसरा डोज कब तक मिलेगा. मुख्यमंत्री को ये साफ करना होगा कि वो ऐसे मामलों में क्यों केंद्र पर ही निर्भर हैं. इसके लिए वो क्यों ग्लोबल टेंड का सहारा नहीं ले रहे हैं. सरकार ने लोगों ने वादा भी किया था कि वो सबको फ्री में कोरोना की वैक्सीन लगवाएंगे. ऐसे में उन्हें अपना वादा पूरा करना चाहिये.