जनप्रतिनिधि के जरिए लोगों को किया जा रहा जागरूक, घर-घर बांटे जा रहे मास्क-साबुन: CM

अतः गंतव्य स्थल तक जाने के लिए लोग पैदल न चलें, ऐसे लोगों की ओर से नजदीकी थाने या प्रखण्ड में सूचना देने पर उन्हें वाहनों के माध्यम से गंतव्य स्थल तक पहुंचाने की व्यवस्था है. 

जनप्रतिनिधि के जरिए लोगों को किया जा रहा जागरूक, घर-घर बांटे जा रहे मास्क-साबुन: CM
जनप्रतिनिधि के जरिए लोगों को किया जा रहा जागरूक, घर-घर बांटे जा रहे मास्क-साबुन: CM. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम को लेकर किये जा रहे कार्यों की उच्चस्तरीय समीक्षा की. 

समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि जो प्रवासी मजदूर क्वारंटाइन सेंटर में आवासित हैं, उन्हें सरकार के निर्णय के अनुरूप यात्रा किराये में व्यय की गई राशि एवं 500 रुपए या न्यूनतम 1,000 रुपए उनके खाते में अंतरित करने के लिये अग्रिम तैयारी कर लें ताकि क्वारंटाइन अवधि समाप्त होते ही उन्हें सहायता राशि मिल सके. 

उन्होंने मुख्य सचिव को निर्देश दिया कि ट्रेन के जरिए बाहर से आ रहे प्रवासी मजदूरों को जल्द से जल्द लाने की व्यवस्था की जाए क्योंकि बहुत सारे लोग ऐसी जगहों से आ रहे हैं, जहां कोरोना का संक्रमण बहुत ज्यादा है. ऐसे प्रवासी मजदूरों को लाने में और विलंब होने से संक्रमण का खतरा और बढ़ेगा. 

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि क्वारंटाइन केन्द्रों पर समुचित व्यवस्था रखी जाए ताकि क्वारंटाइन केन्द्रों में आवासित प्रवासी मजदूरों को किसी प्रकार की परेशानी न हो. 

उन्होंने कहा कि आने वाले प्रवासी मजदूर भी क्वारंटाइन केन्द्रों में अनुशासन बनाए रखें. जिला प्रशासन को व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करें. उन्होंने कहा कि क्वारंटाइन अवधि में नियमों का पालन कर स्वयं को, अपने परिवार को एवं पूरे समाज को सुरक्षित रखेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से प्रवासी मजदूरों को लाने की सुदृढ़ व्यवस्था की गई है. लोगों को छिपकर या पैदल आने की आवश्यकता नहीं है. स्टेशन पर एवं सीमा पर पहुंचे लोगों को बसों एवं ट्रेन के माध्यम से उनके गंतव्य तक पहुंचाया जा रहा है. 

अतः गंतव्य स्थल तक जाने के लिए लोग पैदल न चलें, ऐसे लोगों की ओर से नजदीकी थाने या प्रखण्ड में सूचना देने पर उन्हें वाहनों के माध्यम से गंतव्य स्थल तक पहुंचाने की व्यवस्था है. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए ग्राम पंचायतों की ओर से सभी ग्रामीण परिवारों को मास्क एवं साबुन उपलब्ध कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मास्क का सभी लोग जरूर प्रयोग करें, यह कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उपयोगी है. 

मुख्यमंत्री ने सभी जनप्रतिनिधियों को स्वयं जागरूक रहने और लोगों को भी जागरूक करते रहने का आह्वान किया है. उन्होंने कहा कि सचेत एवं सतर्क रहने से ही कोरोना से बचा जा सकता है. 

सीएम ने कहा कि कोरोना संक्रमण से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिये सरकार हरसंभव कदम उठा रही है. लोग घबराएं नहीं, सचेत एवं सतर्क रहें. उन्होंने कहा कि जब भी कठिन समय आया है, हमलोगों ने मिल-जुलकर संकट का सामना किया है. मुझे पूरा विश्वास है कि आप सबके सहयोग से हम इस महामारी पर विजय प्राप्त करेंगे.