close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कटिहार: 'मोदी मंदिर' में लोगों ने मनाया प्रधानमंत्री का जन्मदिन, केक काटा, लड्डू बांटे

ग्रामीणों का अनुरोध है कि अब पीएम गांव को गोद लें. साथ ही लोगों ने उन्हें गांव आने का न्यौता भी दिया है.

कटिहार: 'मोदी मंदिर' में लोगों ने मनाया प्रधानमंत्री का जन्मदिन, केक काटा, लड्डू बांटे
पीएम मोदी का जन्मदिन आज.

कटिहार: पूरा देश पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का 69वां जन्मदिन मना रहा है, लेकिन बिहार के कटिहार (Katihar) में लोगों का जश्न और पीएम मोदी को लेकर उनकी श्रद्धा बिल्कुल अलग ही है. यहां पर पीएम मोदी का मंदिर है, कटिहार के आजमनगर प्रखंड के बघोरा पंचायत के आनंदपुर सिंघारोल गांव में उनकी प्रतिमा की विकास के देवता के रूप में स्थापना की गई है. 

पीएम मोदी से प्रभावित हो कर स्थानीय लोगों ने गांव के ही बजरंगबली मंदिर में पीएम की मूर्ति स्थापित की है. खास बात यह है कि प्रतिमा स्थानीय लोगों ने अपने खर्च पर स्थापित की है. पीएम मोदी के जन्मदिन पर उनकी प्रतिमा की विशेष पूजा की गई. इस मौके पर मोदी मंदिर में खास तैयारी की गई थी. मंदिर की साज-सज्जा से लेकर तमाम तैयारियां की गई. मंदिर को बैलून से सजाया गया साथ ही केक काट कर और लड्डू बांट कर पीएम मोदी का जन्मदिन मनाया गया. काफी संख्या में ग्रामीणों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया.

लाइव टीवी देखें-:

लोगों में पीएम मोदी को लेकर विश्वास तब बढ़ा जब आज़ादी के बाद से विकास की राह देख रहे ग्रामीणों को पीएम मोदी के आने के बाद विकास का तोहफा मिला. पिछले कुछ वर्षों में गांव में पक्की सड़कें, बिजली, शौचालय जैसी मुलभुत सुविधाएं लोगों को उपलब्ध कराई गई. इसके बाद स्थानीय लोग इतने प्रभावित हुए कि वो पीएम को विकास का देवता मानने लगे.

ग्रामीणों का अनुरोध है कि अब पीएम गांव को गोद लें. साथ ही लोगों ने उन्हें गांव आने का न्यौता भी दिया है. गांव के विकास से उत्साहित ग्रामीण अब जन सहयोग से स्थाई मंदिर निर्माण की बात कर रहे हैं. स्थानीय ललन मुखिया का कहना है कि उन्हें विश्वास है कि पीएम एकबार गांव जरूर आएंगे.

पीएम मोदी का जन्मदिन मनाने का ये अनोखा अंदाज सिर्फ कटिहार में देखने को मिला है. कहा जाता है की यह मंदिर 2-3 साल पहले ही बनवाया गया था. अब यहां के लोगों को इंतजार है प्रधानमंत्री के गांव आने का.