close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लातेहार: नावाडीह गांव में डीलर की मनमानी चरम पर, पांच महीनों से नहीं मिला लोगों को राशन

इस क्षेत्र को कुछ सालों पहले नक्सलियों की राजधानी कहा जाता था और नक्सलियों की हुकूमत चलती थी जिसका फायदा यहां के जन वितरण प्रणाली के दुकानदार उठाते हैं.

लातेहार: नावाडीह गांव में डीलर की मनमानी चरम पर, पांच महीनों से नहीं मिला लोगों को राशन
इस क्षेत्र को कुछ सालों पहले नक्सलियों की राजधानी कहा जाता था.

संजीव, लातेहार: एक तरफ सरकार समाज के हर तबके के लोगों को मुफ्त में राशन देने को लेकर प्रतिबद्ध है ताकि गांव में किसी गरीब व्यक्ति की मौत भूख से न हो सके. लेकिन जिले का अति नक्सल प्रभावित झारखंड के लातेहार के नावाडीह गांव में डीलर की मनमानी चरम पर है. साथ ही इस गांव के सैकड़ों लाभुको को पिछले 5 माह से राशन नहीं दिया गया है. 

इस कारण से परेशान होकर सैकड़ों ग्रामीण लातेहार डीसी जीशान कमर से न्याय की गुहार लगाया है. गौरतलब है कि हाल ही में जिले के महुआडांड़ प्रखंड गरीब लोगों के कई महीनों से राशन नहीं मिलने की वजह से एक व्यक्ति कि मौत हुई थी. मौत के बाद अधिकारी की नींद से जागी थी.

 

आपको बता दें कि इस क्षेत्र को कुछ सालों पहले नक्सलियों की राजधानी कहा जाता था और नक्सलियों की हुकूमत चलती थी जिसका फायदा यहां के जन वितरण प्रणाली के दुकानदार उठाते हैं.

वहीं, स्थानीय ग्रामीणों की माने तो ग्रामीण जब राशन लेने जाते हैं तो उन्हें धमकी देता है कि तुम्हारा राशन कार्ड हो खत्म कर देंगे और तुम्हे जहां जाना है जाओ कुछ नहीं होगा सब मैनेज है. अंत में ग्रामीण ने डीसी से न्याय की गुहार लगाया है.

वहीं, डीसी ने पूरे मामले की जांच कर करवाई करने का भरोसा दिलाया है. जिला प्रशासन समय रहते इस मामले में सुध नहीं ली तो कहीं भूख से मरने का सिलसिला नहीं रुकेगा.