आस्था के नाम पर लोगों का अंधविश्वास, मनसा पूजा में कर रहे अजीबो-गरीब काम

रांची में यहां इन दिनों मनसा पूजा की धूम है. पूरे बूण्डु तमाड़ इलाके में जहरीले सांपों को पकड़ा जाता है. गहमन, चिपी, नागिन और अजगर जैसे सांपों को मन्त्र द्वारा पकड़कर अपने पूरे शरीर मे भक्त लपेटते हैं.

आस्था के नाम पर लोगों का अंधविश्वास, मनसा पूजा में कर रहे अजीबो-गरीब काम
सुलगती आग के अंगारे पर नंगे पांव चलते हैं.

रांची: आस्था के नाम पर अंधविश्वास का नजारा झारखंड में मनसा पूजा में देखने को मिल रहा है. लोगों का अंधविश्वास ऐसा है कि लोग सुलगती आग के अंगारे पर नंगे पांव चलते हैं. 

इतना ही नहीं विषैले श्रद्धालु सांप को अपने शरीर पर लपेटते हैं और साथ हीं मुह में भी सांप को लेते हैं. और तो और लोहे की कील को अपने शरीर के अंगों के आर पार कर देते हैं. लेकिन आस्था के नाम पर इन सबों को ये सभी कुछ करने में कोई कष्ट नही होता है. 

 

रांची में यहां इन दिनों मनसा पूजा की धूम है. पूरे बूण्डु तमाड़ इलाके में जहरीले सांपों को पकड़ा जाता है. गहमन, चिपी, नागिन और अजगर जैसे सांपों को मन्त्र द्वारा पकड़कर अपने पूरे शरीर मे भक्त लपेटते है. सांपों का करतब भी दिखाते हैं. कई बार सांप लोगों को काटता भी है लेकिन ऐसी मान्यता है कि मनसा पूजा के दरम्यान सांप के काटने से भी विष शरीर में नहीं फैलता. 

यहां तक कि कुछ लोग सांप को बड़े प्यार से मुंह मे भी डालते नजर आते हैं. मनसा माता की सवारी नाग सांप को मन जाता है इसलिए मनसा मां की प्रतिमा में नाग सांप भी बनाया जाता है. पर्व को लेकर लोगों में काफी उत्साह रहता है. लोग पूरे धूमधाम से जहरीले सांपों को पिटारे में लेकर नाचते गाते हैं. 

लोगों का इस पर कहना है कि मनसा मां की कृपा से छड़ की शरीर मे आर-पार करने से भी कोई दर्द नहीं होता है. मनसा पूजा पुराने जमाने से चली आ रही परंपरा है. यह पर्व अगस्त माह में धान रोपनी के आसपास ही मनाया जाता है.