close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सहरसा: जर्जर सड़क को लेकर फूटा लोगों का गुस्सा, जगह-जगह हुई नारेबाजी-प्रदर्शन

परेशान लोगों ने जन आंदोलन की आह्वान पर आज पूरे सहरसा को बंद कराते हुए सड़क पर उतर कर जगह जगह प्रदर्शन और नारेबाजी की. 

सहरसा: जर्जर सड़क को लेकर फूटा लोगों का गुस्सा, जगह-जगह हुई नारेबाजी-प्रदर्शन
सड़क पर उतर कर लोगों ने जगह-जगह प्रदर्शन और नारेबाजी की.

सहरसा: बिहार के सहरसा में जर्जर सड़क एवं एनएच 106, 107 की बदहाल स्थिति को लेकर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. परेशान लोगों ने जन आंदोलन की आह्वान पर आज पूरे सहरसा को बंद कराते हुए सड़क पर उतर कर जगह जगह प्रदर्शन और नारेबाजी की. 

शहर के डीबी रोड, थाना चौक, शंकर चौक, रिफ्यूजी चौक, महावीर चौक तिवारी चौक समेत कई जगहों पर आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर यातायात बाधित कर दिया और सड़क पर टायर जलाकर स्थानीय नेता और जिला प्रशासन के विरोध में जमकर नारेबाजी की. घंटों सड़क जाम से आम लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा वहीं, छोटे-छोटे स्कूली बच्चे जाम की वजह से परेशान दिखे. 

 

शहर के व्यावसायिकों ने भी अपना व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद कर जन आंदोलन का समर्थन किया है. जन आंदोलन को सफल बनाने के लिए सुबह से ही लोगों ने अपनी दुकानें बंद कर रखा है. आपको बता दें कि जो लोग जर्जर सड़क की समस्या से जूझ रहे हैं. उन सभी लोगों ने अपनी इच्छा अनुसार अपनी अपनी दुकान बंद कर जन आंदोलन का समर्थन किया है और बिहार सरकार के प्रति आक्रोश जता रहे हैं. 

आपको बता दें कि सहरसा से पूर्णियां को जोड़ने वाली एनएच 107 की सड़क गढ्ढे में तब्दील हो गया है. बारिश के दिनों में एनएच की सड़कों की स्थिति नारकीय बन जाती है जो आए दिन हादसे को आमंत्रण करती रहती है. बारिश के दिनों में एनएच 107 पर वाहन लेकर चलने की बात कौन करे साहेब. यहां तो पैदल चलना भी दुस्वार हो जाता है. 

उसके बावजूद इन समस्या पर ना तो जिला प्रशासन की नजर है और ना ही विभाग की इतना ही नहीं जिला प्रशासन से लेकर विभाग तक की अनदेखी ने शहरवासियों का सब्र का बांध ही तोड़ दिया. जिसके बाद शहरवासियों ने जन आंदोलन का मूड बना लिया और आज सड़क पर उतर आए और जन आंदोलन के तहत सुरक्षित एनएच 107 सड़क की मांग कर रहे हैं.

जन आंदोलन कर रहे लोगों को रिक्शा चालक संघ,ट्रक ऑनर एसोशिएसन,बस ऑनर एसोशिएसन के अलावे जिला वासियों एवं कई सामाजिक संगठन के लोगों के अलावे शहर के व्यवसाइयों अपना व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद कर जन आंदोलन कर रहे लोगों का भरपूर समर्थन कर रहे हैं साथ ही बिहार सरकार के प्रति अपनी आक्रोश जता रहे हैं .